Breaking News
VIDEO: यशोधरा बोलीं..'मेहनत हमारी, वोट हाथी को' | सत्ता मद में चूर भाजपा सिंधिया के खिलाफ कर रही झूठा प्रचार : कांग्रेस विधायक | शिवराज की नजर में ..दिग्विजय 'देशद्रोही' की श्रेणी में | VIDEO : इंदौर महापौर बोली - निगम नही वसूलेगा केबल और डीटीएच पर मनोरंजन शुल्क | एमपी के इस गांव में मिले 25 कैंसर के मरीज, मचा हड़कंप | कारोबारी के यहां आयकर का छापा, 100 किलो सोना और 10 करोड़ कैश बरामद | एमपी में बेरोजगारों की फौज, 1700 पद के लिए डेढ़ लाख आवेदन | दर्दनाक हादसा : ओवरब्रिज से 20 फीट नीचे खेत में जा गिरी बस, एक की मौत, 40 घायल | अखिलेश का शिवराज पर हमला, MP में कही भी ऐसी सड़क नहीं जो अमेरिका से अच्छी हो | VIDEO : गोविंद गोयल के बयान पर बवाल, आपस मे भिड़े कांग्रेसी |

सरकार की प्राथमिकता 'गरीबी मिटाओ, गरीबों को ऊपर लाओ'' : सीएम शिवराज

होशंगाबाद।

प्रदेश भर के स्वसहायता समूहों को जा़ेड़ेगें। पूरे मप्र में केसला का पोल्ट्री मॉडल लागू किया जाएगा। सरकार इसके लिए बिजनेस मैपिंग करवाएगी। सरकार की प्राथमिकता 'गरीबी मिटाओ, गरीबों को ऊपर लाओ'' है। केसला, सुखतवा एवं भौंरा के आदिवासी महिला समूहों द्वारा मुर्गी पालन का अदभुत कार्य किया जा रहा है।केसला पोल्ट्री समिति अध्यक्ष कुंतीबाई और सरोजबाई का उदाहरण देते हुए सीएम ने कहा कि गरीबी से लड़कर कैसे जीता जाता है यह समूह की महिलाओं ने कर दिखाया है। 240 करा़ेड का टर्नओव्हर करने में बड़े उद्योगपति भी फेल हो जाते हैं। यह बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने होशंगाबाद जिले के केसला विकासखण्ड के ग्राम कीरतपुर में पैलेट फीड प्लांट का लोकार्पण के दौरान कहीं।

उन्होंने कहा कि पहले प्रदेश में सड़क, बिजली, पानी का अभाव था। आज हमने जगह-जगह सड़कों का जाल बिछा दिया है। प्रदेश वासियों को 24 घंटे बिजली भी मिल रही है। राज्य सरकार ने सिंचाई की क्षमता साढ़े सात लाख हेक्टेयर से बढ़ाकर चालीस लाख हेक्टेयर कर दी है।  उन्होंने कहा कि जिनके पास संसाधन नहीं है उन्हें शासन संसाधन उपलब्ध करा रहा है। अब कोई गरीब आवासहीन नहीं रहेगा। इसके लिये पट्टे देने का अभियान चलाया गया है। आगामी 4 वर्षों में सभी पात्र गरीबों को आवास बनाकर दिए जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले व्यक्तियों के जीवन-स्तर को बेहतर बनायेंगे। केसला, भौंरा एवं सुखतवा लोगों के लिए एक मॉडल है क्योंकि यहाँ कि आदिवासी महिलाएँ महिला सशक्तिकरण और गरीबी हटाओ की प्रतीक है। मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया कि यहाँ की महिलाओं की आमदनी बढ़ाई जाएगी, बाजार कितना मिल सकता है, इसकी व्यवस्था की जाएगी। साथ ही ऐसी समिति जो मुर्गी पालन में लगी है, उनकी हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि अन्य जगहों पर महिलाएँ अचार, पापड़, बड़ी बना रही हैं। उनका मुख्य उद्देश्य भी गरीबी दूर करना ही है और राज्य सरकार उनकी गरीबी दूर करने में हरसंभव सहायता देगी। 

अंत्येष्टि के लिए 5 हजार राशि देगी सरकार

उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के पंजीयन का कार्य किया गया है। पंजीयन के बाद श्रमिकों को अनेक शासकीय योजनाओं से लाभांवित किया जाएगा। श्रमिक के बच्चों की कक्षा पहली से लेकर पीएचडी करने तक की फीस सरकार भरेगी। श्रमिकों को नि:शुल्क इलाज मुहैया कराया जायेगा। यदि श्रमिक की मृत्यु हो जाती है, तो उसके परिजनों को 2 लाख की राशि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि श्रमिक की मृत्यु दुर्घटना में हो जाती है, तो 4 लाख की राशि दी जाएगी। अंत्येष्टि के लिए भी 5 हजार की राशि परिजनों को दी जाएगी।

सबका बराबर का हक है

सीएम ने कहा कि नदी, हवा, पानी खदान पर सबका बराबरी का हक है। गैर बराबरी खत्म करने के लिए दो ही विचारधारा हैं, मैं वर्ग संघर्ष की बात नहीं करता, बल्कि जिनके पास भरपूर संसाधन हैं, उनसे छीन लिया जाए यानि टैक्स वसूला जाए और जो खाली हाथ हैं उन्हें सुविधा देकर बराबरी का हक दिया जाए। 


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...