Breaking News
स्वास्थ्य विभाग में मंत्री का आदेश रद्दी की टोकरी में | मोदी सरकार के 4 साल : बैलगाड़ी, ठेला अैर साइकिल पर सवार होकर कांग्रेस ने मनाया 'विश्वासघात दिवस' | मैं सेवा की ऐसी लकीर खींचूंगा, जिसे मेरे मरने के बाद भी मिटाया न जा सकेगा : शिवराज | पुलिसवाले के दोस्त ने युवतियों से की छेड़छाड़, चप्पलों से हुई पिटाई, खाकी पर उठे सवाल | बैतूल में आज एक और किसान ने की आत्महत्या, सड़क पर शव रख ग्रामीणों ने किया चक्काजाम | MP : मोदी सरकार के चार साल, कांग्रेस मना रही 'विश्वासघात' दिवस | विश्वासघात दिवस : कांग्रेस नेता ने गिनाई मोदी सरकार की 5 नाकामियां | VIDEO : कंटेनर से जा भिड़ा पायलेटिंग वाहन, बाल-बाल बचे स्वास्थ्य मंत्री, 3 पुलिसकर्मी घायल | VIDEO : विधायक ने 'हमसफ़र' को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, पहले दिन यात्री दिखें उत्साहित | 6 जून से पहले जिलों में जाकर किसानों को मनाएंगे मुख्यमंत्री  |

पूर्व मंत्री ने फिर उठाए संगठन पर सवाल, कहा- बीजेपी में पैसों के बदले मिलते है टिकिट

होशंगाबाद।

 प्रदेश में चुनावी साल में पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मुश्किलें बढ़ा दी हैं। उन्होंने एक बार फिर सरकार को जमकर घेरा है। इस बार उन्होंने संगठन को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी में पैसे के बदले टिकट मिलते है।नगर पंचायत अध्यक्ष खुद पैसे देकर टिकट खरीदते है । सिंह के बयान के बाद से ही भाजपा में सरगर्मिया तेज हो चली है।वहीं विपक्ष ने सत्तापक्ष पर राजनैतिक हमले करना शुरु कर दिए है।

जानकारी के अनुसार, पूर्व मंत्री और सिवनी मालवा के विधायक सरताज सिंह ने सिवनी मालवा में नपा अध्यक्ष उम्मीदवार को लेकर शीला जलखरे के लिए संगठन से टिकट मांगा था, लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला।इस पर शीला के भतीजे ने 9 मार्च को फेसबुक पर पोस्ट डाली जिसमें भाजपा के पूर्व पदाधिकारियों पर टिकट बेचने के आरोप लगाए हैं।उन्होंने सिंह ने कहा है कि वर्तमान अध्यक्ष के पति खुद कहते हैं कि उन्होंने टिकट खरीदा है।भाजपा में  पैसे लेकर टिकट देने की प्रवृत्ति गंभीर है, इसे दूर करने की जरूरत है।साथ ही उन्होंने कहा कि संगठन में जो हो रहा है , उसको देखते हुए चुप नहीं बैठूंगा।

बता दे कि बीते दिनों भाजपा नेता सरताज सिंह  ने शिवराज सरकार पर कई आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा कि 15 फरवरी को उनकी तबीयत खराब हुई थी।इलाज में डेढ़ लाख रुपये के मेडिकल बिल के भुगतान के लिए उनके पीए से घूस मांगी गई।सरताज सिंह ने कहा कि ऐसी घटना जब उनके साथ हुई तो फिर आम जनता को किस तरह के हालात फेस करने पड़ रहे होंगे। इससे साबित होता है कि मध्यप्रदेश में भ्रष्टाचार किस तरह से हावी हो चुका है।सिंह के बयान के बाद मुख्यमंत्री शिवराज ने उनसे बात की और उन्हें कार्रवाई का आश्वसन दिया था। इसके बाद लग रहा था कि अब नाराजगी दूर हो चुकी है, लेकिन टिकट और पैसों ने इस बयान ने एक बाऱ फिर राजनैतिक चर्चाओं को हवा दे दी है। अब देखना है कि सिंह का अगला हमला क्या और किस पर होता है।



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...