हिंदी दिवस पर प्रसिद्ध गजल सम्राट दुष्यंत कुमार की हिंदी को मातृभाषा सम्मान

होशंगाबाद। जीतेन्द्र वर्मा। 

गजलकार दुष्यंत कुमार क्रांतिकारी साहित्यकार थे। उनकी कविताएं और गजल आज भी लोगों को याद हैं। यह बात हिंदी दिवस पर नर्मदांचल पत्रकार संघ द्वारा आयोजित कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीता सरन शर्मा ने कही। कर्यक्रम में वरिष्ठ साहित्यकार और गजलकार दुष्यंत कुमार जी की धर्मपत्नी राजेश्वरी का मातृ भाषा सम्मान से सम्मानित किया। सर्किट हॉउस में आयोजित कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीता सरन शर्मा . पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भवानी शंकर शर्मा . कलेक्ट दास . एसपी अरविन्द सक्सेना साहित्यकार विनोद निगम . सुरेश उपाध्याय . पंकज पटेरिया . नित्यगोपाल कटारे अदि मौजूद थे। 

    पूर्व जिला पंचयत अध्यक्ष शर्मा ने कहा की दुष्यंत जी कबिताये आज भी प्रण दायक है। कुछ लोग साहित्य का दगलत उपयोग कर रहे है। कलेक्टर दास ने कहा की में हिंदी भाषी नही हु लेकिन कामकाज के साथ मेने ऐसे सीखा है। हमे हिंदी में ही काम करना है। एसपी सक्सेना ने भी दुष्यंत जी साहित्य पर विचार व्यक्त किये। साहित्यकार निगम और उपाध्याय  ने दुष्यंत जी कबिटो का पठन किया। कार्यक्रम में नर्मदांचल पत्रकार संघ के अध्यक्ष प्रशांत दुबे सरक्षक प्रफुल्ल तिवारी ने संबोधित किया ।