करियर खराब होने पर सुसाइड करने रेलवे ट्रैक पर पहुंचा युवक, पुलिस ने ऐसे बचाई जान

इंदौर।

  हीरा नगर पुलिस थाना क्षेत्र में 2 अगस्त की रात को एक युवक आत्महत्या कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर लेता लेकिन भला हो पुलिस जवानों  लगभग 10 बजे गश्त में निकले हुए थे और उन्होंने युवक को सही रास्ता दिखाते हुए उसके परिजनों को सौंप दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस थाना हीरा नगर के आरक्षक  मनोज पटेल और  रेवाशंकर को बीट भ्रमण पर थे उसी दौरान उनकी नजर  एम.आर. 10 ब्रिज के पास रेल पटरियों के पास खड़े एक नवयुवक पर पड़ी, तो उन्होंने  शंका होने पर उसके पास जाकर उस युवक को विश्वास में लेकर बात की, तो उस युवक ने अपना नाम राहुल यादव निवासी गौरी नगर बताते हुए बताया और कहा कि अपना अच्छा करियर न बन पाने जैसी बातों से निराश होकर, नकारात्मक विचारों से ग्रसित होकर, वह आत्महत्या करने के इरादे से एमआर-१० ब्रिज के पास रेल पटरियों के पास पहुंच कर रेल का इंतजार कर रहा था और अपनी जीवनलीला खत्म कर लेने के इरादे से ही घर से निकला था इतना ही नही राहुल चूहा मार दवा भी साथ मे लाया था। दोनो पुलिस जवानों ने युवक के नकारात्मक विचारों से उसे उबारकर उसे उचित समझाइश देकर थाने लेकर आये। जहाँ युवक के परिजनों को बुलाकर उनके पुत्र को उन्हें सुपुर्द किया गया और उसका ध्यान रखने का कहा गया। युवक राहुल के परिजनों ने  पुलिस के प्रति कृतज्ञता प्रकट की व कहा कि आज पुलिस के कारण ही उनका बच्चा जीवित है औऱ सुरक्षित उन्हें वापस मिला है। हीरा नगर पुलिस के जवानों द्वारा किये गए इस कार्य की सराहना चारो और हो रही है आज के जमाने खाकी का ये रूप हर किसी को देखने को नही मिलता है।