सिंधिया का शिवराज पर हमला, युवाओं को रोजगार नही मिल रहा और बाबाओं को मंत्री बना रही सरकार

इंदौर

गुना सांसद और कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के प्रमुख ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बार फिर भाजपा पर बड़ा हमला बोला है। सिंधिया ने कहा है कि भाजपा के पास कोई चेहरा नही है। इसलिए संगठन का सहारा ले रही है। लेकिन ये समझ ले कि भाजपा जनता उनका झूठ समझ चुकी है और आने वाले विधानसभा चुनाव में इसका परिणाम देखने मिल जाएगा।वही सिंधिया ने कहा कि प्रदेश में युवाओं को रोजगार नही मिल रहा है और सरकार उन्हें पकौड़े तलने को बोल रही है ,और उधर बाबाओं को मंत्री बनाया जा रहा है।

दरअसल, शनिवार को सिंधिया इंदौर के सांवेर विधानसभा क्षेत्र में आने वाले लसूड़िया में जनाक्रोश रैली करने पहुंचे थे। इस मौके पर उन्होंने शिवराज सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा के पास चुनाव लड़ने के लिए कोई चेहरा नही है। इसलिए भाजपा संगठन का साथ ले रही है। भाजपा को पता चल गया है कि जो चेहरे उनके पास है , उससे काम नही चलने वाला।  जब भाजपा के पास कोई एजेंडा नहीं होता तो जातिवाद, धर्मवाद की राजनीति करती है, लेकिन इस बार न जातिवाद चलेगा, न धर्मवाद। एक ही एजेंडा चलेगा विकास का, सुरक्षा का, प्रदेश में अमन-चैन का।

वही सिंधिया ने शिवराज के 14  साल बेमिसाल पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रदेश का हर वर्ग परेशान है। प्रदेश दुष्कर्म के मामलों में देश में पहले नंबर पर है। युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा। वे पकौड़े तल रहे, जबकि बाबाओं को मंत्री बनाया जा रहा है। ये है प्रदेश की शिवराज सरकार के 14  साल बेमिसाल।वही सिंधिया ने  राजनीति को व्यवसाय बताते हुए कहा कि आज की राजनीति पूरी तरह से दूषित हो गई है, और अब राजनीति राजनीति नही रही व्यवसाय बन चुकी है।

 साथ ही सिंधिया ने जनता से अपील की वे इस बार कांग्रेस को वोट दे और भाजपा को बाहर कर दे। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में प्रगति और विकास चाहते हो तो इस बार कांग्रेस को मौका दो, कांग्रेस वही करेगी जो जनता चाहेगी। प्रदेश सरकार की नवंबर में रवानगी तय है। प्रदेश में इस बार बीजेपी-कांग्रेस का चुनाव नहीं, प्रदेश के भविष्य का चुनाव है। 

भावांतर बनी भ्रष्टाचार अनंत योजना

प्रदेश सरकार द्वारा शुरु की गई भावांतर भुगतान योजना किसानों की योजना नहीं है बल्कि भ्रष्टाचार अनंत योजना है,जिसने किसानों को सिर्फ और सिर्फ छला है। कांग्रेस की सरकार बनते ही किसानों को उनकी उपज का मंडियों में तुरंत नकद भुगतान मिलेगा। वही सिंधिय़ा ने युवाओं को रोजगार देने  औऱ  बेरोजगारी मिटाने के लिए कहा कि इसके लिए जर्मनी और जापान मॉडल की जरूरत है।इस मॉडल के अंतर्गत उद्योगों के साथ समझौता किया जाता है और उनकी आवश्यकता के अनुरूप युवाओं को प्रशिक्षित कर काम करने के लिए उद्योगों को दिया जाता है।