Breaking News
केंद्रीय मंत्री की बहन को एसिड अटैक और मारने की धमकी | खाना खाने के बाद बिगड़ी तबियत, दो सगी बहनों की मौत, मां की हालत गंभीर | पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा की जन्मशताब्दी मनाएगी सरकार : शिवराज | अस्पताल के बच्चा वार्ड में लगी आग, मची अफरा-तफरी, 35 बच्चे थे भर्ती | खुशखबरी : मंत्री ने किसानों की मांग की पूरी, मोहनी सागर डेम से हरसी के लिए छुड़वाया पानी | पदोन्नति में आरक्षण : अब 22 अगस्त को होगी अगली सुनवाई, सपाक्स रखेगा अपना पक्ष | MP : आकाशीय बिजली का कहर, मवेशी चराने गए 6 लोगों की मौत, 12 घायल | गंगा की गोद में समाए 'अटल', 'बेटी नमिता ने ऊं' के उच्चारण के साथ हरकी पैड़ी में विसर्जित की अस्थियां | 'मजनू' के सिर से उतारा इश्‍क का भूत, लड़की ने चप्पलों से पीटा, भीड़ ने काटे बाल | महाकाल मंदिर के बाहर खून-खराबा, युवक ने दंपत्ति पर किया चाकू से हमला, मचा हड़कंप |

VIDEO: यहां संसद में विपक्ष ने छोड़े आंसू गैस के गोले, मची भगदड़

इंटरनेशनल डेस्क: आपने संसद में पक्ष-विपक्ष में तीखी नोंक झोक और लड़ाई के किस्से सुने होंगे, एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर अक्सर सदन में देखा जाता है, ये घटना दुनियाभर के देशों की संसद में होता है| लेकिन कोसोवो में संसद में इतना बवाल हुआ कि विपक्षी दलों द्वारा आंसू गैस के गोले छोड़े दिए गए| यह एक चौकाने वाली घटना के कारण कोसोवो सुर्ख़ियों में है| 

कोसोवो में सर्बिया को लेकर जारी तनाव पर सियासी संकट गहराता जा रहा है, हद तो तब हो गई जब संसद में भी बवाल हुआ। विपक्षी सांसद ने मांगों को लेकर संसद में आंसू गैस के गोले छोड़े औऱ मिर्च स्प्रे किया, जिसके बाद अफरा तफरी का माहौल हो गया। ये आंसू गैस का धुआं था, जिसे विपक्ष ने संसद में मोंटेनेगरो के साथ सीमा समझौते पर हो रही वोटिंग के दौरान फेंका था। आंसू गैस का धुआं फैलने के बाद संसद की कार्रवाई को रोक दिया गया

दरअसल, कोसोवो की संसद में  मोंटेनेगरो के साथ सीमा समझौते के मुद्दे पर वोटिंग होनी थी, तभी विपक्षी सांसदों ने सीट के नीचे से आंसू गैस के गोले निकालकर दूसरी ओर फेंकना शुरू कर दिया और पूरा हॉल धुएं से भर उठा।जिससे अफरा-तफरी मच गई और कार्यवाही बीच में ही रोकनी पड़ी। हालांकि ये पहली बार नहीं हुआ। इससे पहले भी कोसोवो की संसद में मिर्च पाउडर फेंके गए हैं। देश के आंतरिक मुद्दों के लेकर पहले भी विपक्षी दल संसद के भीतर उग्र विरोध जता चुके हैं।

सबसे पहला आंसू गैस का गोला सत्तापक्ष की टेबल के नीचे फेंका गया। आंसू गैस का गोला फेंके जाने के बाद कुछ सांसद अपनी सीट पर बैठे रहे, लेकिन कुछ सांसद उठकर जाने लगे। आंसू गैस का धुंआ ऊपर उठने लगा था। कुछ देर बाद संसद में मार्शल घुस गए वो मास्क पहने हुए थे। जिन सांसदों को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी उन्हें मास्क दिए गए और सदन से बाहर निकाला गया। संसद में आंसू गैस के गोले फेंके जाने की खबर दुनिया भर में चर्चा का विषय बन गया|


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...