अपनी ही नगर सत्ता के खिलाफ भाजपा पार्षद ने खोला मोर्चा, धरने पर बैठे

जबलपुर|

जबलपुर में पानी की लड़ाई अब पार्टी और राजनीति से बढ़कर हो गई है।जबलपुर नगर निगम के पार्षद चाहे वो सत्ता पार्टी को हो या फिर विपक्ष के सभी ने महापौर ओर निगम अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।भाजपा से लाला लाजपतराय वार्ड के पार्षद डीपी कुमरे ने अपनी ही नगर सत्ता के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए रांझी नगर निगम जॉन कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गए।इस दौरान उनके साथ भाजपा कार्यकर्ता सहित स्थानीय लोग भी मौजूद रहे।भाजपा पार्षद डीपी कुमरे का आरोप है नगर में हमारी सत्ता होने के बाद भी हमारी कोई सुनवाई नही है।महापौर से लेकर कमिश्नर तक सबसे पानी की समस्या बताई पर नतीजा कुछ नही निकला।यही वजह है कि आज एक बार फिर धरना देना पड़ रहा है।

पार्षद की माने तो उनके वार्ड में करोड़ो रु खर्च कर पानी की टंकी भी बना दी गई पर वह आज सिर्फ सफेद हाथी बनकर रह गई है इससे पहले भी सदन की बैठक में  अशनदी के सामने धरने पर बैठने के दौरान उन्हें आश्वशन दिया था कि दो दिन में पानी की समस्या का निदान होगा पर जब आज तक कुछ नही हुआ तो अपनी ही नगर सरकार और निगम अधिकारियों के खिलाफ धंरने पर बैठना पड़ा।इधर भाजपा पार्षद कुमरे के समर्थन पर भाजपा नेता भी उतर आए है जो कि उनके साथ ही धंरने पर बैठ गए है।पार्षद ने चेतावनी दी है कि जब तक निगम अधिकारी लिखित में नही देते तब तक ये आंदोलन और धरना जारी रहेगा।गौरतलब है कि हाल ही नगर निगम में बजट की बैठक में भी पानी सहित अधिकारियों के खिलाफ एक नही बल्कि भाजपा के पांच पार्षद सदन में ही धंरने पर बैठ गए थे।और वहाँ बैठी महापौर स्वाति गोडबोले ने भी माना था कि नगर निगम में अधिकारी जनप्रतिनिधियों पर हावी है।

"To get the latest news update download the app"