Breaking News
जब मध्य प्रदेश की मंत्री को महंगा पड़ा था अंबानी का विरोध | MP: कांग्रेस-बसपा गठबंधन की संभावना बरकरार, हो सकता है गुप्त समझौता | SC-ST एक्ट पर BJP में फूट: शिवराज के ऐलान से नाराज उदित राज, दे डाली यह नसीहत | दर्दनाक हादसा: दो कारों की भिड़ंत में जनपद सीईओ समेत 4 लोगों की मौत | कैसे पूरी होगी शिवराज की यह घोषणा | कांग्रेस की उम्मीदों पर फिर पानी, बसपा ने जारी की प्रत्याशियों की पहली सूची | डंपर काण्ड: CM के खिलाफ याचिका खारिज, SC ने कहा-'चुनाव लड़ना है तो मैदान में लड़ें, कोर्ट में नहीं' | बीजेपी विधायक का आरोप, सवर्ण आंदोलन के लिए हो रही विदेशी फंडिंग | व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! |

लंबित प्रकरणों पर कलेक्टर ने अधिकारियों को लगाई फटकार

जबलपुर| प्रदेश सरकार द्वारा बीते दिनों चलाए गए राजस्व प्रकरणों के निराकरण अभियान की हवा निकलती नज़र आ रही है। जबलपुर कलेक्टर ने आज जब ज़िले के पनागर तहसील कार्यालय का औचक निरीक्षण किया तो उन तमाम निर्देशों का उल्लंघन होते पाया जो राजस्व अभियान के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री और मुख्यसचिव ने दिए थे। 

जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज ने सीमांकन और नामांतरण प्रकरणों के निपटारे में गम्भीर अनियमितता पाई। कलेक्टर ने पाया कि सीमांकन प्रकरणों को दर्ज किए बिना उन्हें लम्बे समय से लंबित रखा गया था। ऐसे में कलेक्टर ने पनागर तहसील कार्यालय के ज़िम्मेदार अधिकारियों को फटकार लगाई है और उन्हें राजस्व मामलों का निराकरण समय सीमा में करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि प्रदेश में ज़मीनों के सीमांकन और नामांतरण के काम में लेटलतीफी और भ्रष्टाचार की बढ़ती शिकायतों पर बीते दिनों मुख्यमंत्री के निर्देश पर राजस्व विभाग ने समयसीमा में निराकरण का अभियान चलाया था लेकिन आज जबलपुर कलेक्टर के छापामार अंदाज़ में हुए निरीक्षण से बदस्तूर लापरवाही की ज़मीनी हकीकत उजागर हो गई।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...