मप्र उच्च न्यायालय के महाधिवक्ता राजेन्द्र तिवारी का निधन, लम्बे समय से थे बीमार

 जबलपुर| मध्यप्रदेश के महाधिवक्ता और स्टेट बार कौसिंल के पदेन सदस्य अधिवक्ता राजेन्द्र तिवारी का शनिवार रात को निधन हो गया। वे गुड़गांव के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती थे।शनिवार की रात करीब 10:30 बजे हृदय गति रुक जाने से उनका निधन हुआ। संभवत उनकी पार्थिव देह गुड़गांव से रविवार को जबलपुर लाया जाएगा।नेपियर टाउन निवासी वरिष्ठ अधिवक्ता राजेंद्र तिवारी मप्र सरकार के 16 वें महाधिवक्ता थे।दिसंबर 2018 में उनकी महाधिवक्ता के रूप में पद स्थापना हुई थी। श्री तिवारी का जन्म 14 अप्रैल 1936 को हुआ। वे छात्र राजनीति मे खासे सक्रिय रहे। 1956-57 में वे रादुविवि जबलपुर के छात्र संघ के अध्यक्ष रहे। बीए, एमए (संस्कृत), एलएलबी की परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने 1964 से वकालत आरम्भ की।वे 1985-88 तक राज्य सरकार के उप महाधिवक्ता रहे। 1993 में वे हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे। अधिवक्ता राजेन्द्र तिवारी अनेक सामाजिक एवम सांस्कृतिक संस्थाओं से भी जुड़े हुए थे और लगातार ऐसी गतिविधियों को प्रोत्साहित वो करते रहते थे।उनके अचानक हुए निधन से प्रदेश भर के अधिवक्ता सहित सामाजिक संस्था शोक में डूब गए है।

"To get the latest news update download the app"