दिग्विजय का बड़ा आरोप, व्यापमं घोटाला, अवैध उत्खनन में शिवराज का पूरा परिवार शामिल

जबलपुर| पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने जबलपुर में कई कार्य्रकमो में शिरकत की इस दौरान दिग्विजय सिंह पत्रकारो से रूबरू हुए। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला। दिग्विजय सिंह ने अवैध रेत खनन और व्यापम घोटाला मामले में पूरी तरह से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के शामिल होने का आरोप लगाया है। दिग्विजय सिंह ने जबलपुर नगर निगम के स्थानीय मुद्दों को भी उठाया उन्होंने कहा कि जबलपुर नगर निगम में तत्कालीन मेयर विश्वनाथ दुबे के समय जवाहर लाल नेहरू अर्बन मिशन के तहत ADB बैंक से 300 करोड़ की योजना मंजूर हुई थी पर इस योजना के तहत शहर में कोई भी काम पूरा नहीं हुआ। नगर निगम द्वारा संचालित मेट्रो बसों के संचालन में भी कई गड़बड़ी है।स्मार्ट सिटी के तहत 4 हजार करोड़ के निवेश की बात कही गई थी इसमें चुने हुए जन प्रतिनिधियों की कोई भूमिका नहीं है।अधिकारी मनमर्जी कर रहे हैं स्मार्ट सिटी में अभी तक महज मात्र 70 करोड़ के काम ही हो पाए हैं। जबलपुर में स्थानीय लोगों के साथ साथ स्मार्ट सिटी का बीजेपी के लोगो ने भी विरोध किया है।

रेत खनन को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा कि नर्मदा परिक्रमा के दौरान उन्होंने कई स्थानों पर अवैध रेत खनन होते देखा | इसमें नरसिंहपुर के एक मंत्री और जबलपुर की एक विधायक भी शामिल हैं। इस अवैध रेत खनन में सीएम के साथ पूरी बीजेपी शामिल है। व्यापम घोटाले में पूरी तरह से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और उनका पूरा परिवार शामिल है। रेत अवैध खनन  , पोषण आहार और ई टेंडरिंग में सीएम और उनका पूरा परिवार शामिल है। राफेल मामला में भी दिग्गविजय सिंह ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। यूपीए सरकार के द्वारा तैयार प्रस्ताव को पीएम श्री मोदी ने नियमों के विरुद्ध बिना वित्त मंत्रालय कीसहमति से फ्रांस सरकार से सौदा कर लिया।एक हवाई जहाज पर सरकार 9 सौ  से एक हजार करोड़ अधिक क्यों दे रही है इसका जवाब नहीं है पीएम के पास।