जबलपुर जिले में बारिश का कहर, दो दिन में 6 लोगों की मौत

जबलपुर। मध्य प्रदेश में दस दिनों के गेप के बाद शुरू हुई बारिश ने जबलपुर में आफत ला दी है, दो दिनों के भीतर बारिश के चलते छह लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं| अलग अलग तीन घटनाओं में छह लोगों की मौत हुई है|  मंगलवार रात को एक मकान का छज्जा गिरने से दादी और पोती की मौत हो गई थी। वहीं बुधवार को आसमान से गिरी बिजली में किसान दंपती की जान चली गई, वहीं शीतलामाई इलाके में बारिश से उफने नाले में बाइक सहित दो युवक की डूबने से मौत हो गई, एक युवक का शव शाम को ही मिल गया था वहीं दूसरा शव गुरूवार सुबह मिला है, इस घटना से आक्रोशित परिजनों ने चक्काजाम भी किया, स्थानीय लोगों का आरोप है कि निगम की लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ, एलएनटी का नाला निर्माण अधूरा होने के करा दो लोग डूब गए| इस तरह शहर में दो दिनों में छह लोगों की मौत हुई है| 

दरअसल, जबलपुर में जारी बारिश के चलते शीतलामाई इलाकें में एलएनटी के खुले हुऐ नाला उफान पर है जिसमे बुधवार को दो युवक बाईक सहित समा गये। देखते ही देखते युवक उफनाये नाले में लापता हो गये। आसपास मौजूद लोगों ने युवकों को बचाने का प्रयास किया लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। इसके बाद पंहुची रेस्क्यू टीम ने युवकों की तलाश का काम शुरू किया। लेकिन घंटो बाद सिर्फ युवकों की बाईक हाथ लगी। दोनों युवक पास के ही बंशकार मोहल्ले के रहने वाले थे। दोनों बाईक से नाला पार कर रहे थे उस दौरान अचानक बाईक अनियत्रिंत होकर नाले में घुस गई। इस घटना से आक्रोशित लोगों ने मार्ग पर चकाजाम कर नगरनिगम प्रशासन के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। वही मौके पर पंहुचे पुलिस बल ने आक्रोशित लोगों को समझाईश दी। और मृतक के परिवार को 4 – 4 लाख  रु. की सहायता राशि देने का आश्वासन दिया है|  दोनों युवकों में से एक का शव कल शाम को ही नौदरा ब्रिज के नाले में मिला था. जबकि दूसरा शव आज 9 किलोमीटर दूर स्नेहनगर में मिला है| 

एक अन्य मामले में किसान दंपत्ति की मौत हो गई| बुधवार को पनागर के ग्राम नरगवां में बुधवार की शाम 4 बजे एक आम के पेड़ पर आकाशीय बिजली गिरने से किसान दंपती की मौत हो गई। साथ में खड़े बेटा-बेटी और एक अन्य महिला भी झुलस गई।  जिले में बीते दो दिन में पांच इच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। नदी-नाले उफान पर हैं। पूरे शहर में जलभराव के हालात हैं।  

तेज बारिश के चलते कच्चा मकान ढहा , दो की मौत 

 मंगलवार रात को गोरखपुर थाना के महर्षि स्कूल के पीछे बना एक कच्चे मकान का छज्जा भरभरा कर गिर गया इस हादसे में 40 साल की एक महिला के साथ 6 साल की मासूम की जहाँ मौके पर ही मौत हो गई तो वही इस घटना में 7 साल का बालक भी घायल हो गया है। गोरखपुर पुलिस के मुताबिक रीवा के रहने वाली 40 साल की दुर्घटिया बाई अपने भतीजे उसकी पत्नी और 3 बच्चो के साथ महर्षि स्कूल के पीछे बने एक कच्चे मकान में रह रही थी।  देर रात दुर्घटिया बाई अपने 2 नाती अनिकेत और रईस के साथ एक कमरे में सो रही थी जबकि उसका भतीजा अपनी पत्नी और एक अन्य बच्चे के साथ दूसरे कमरे में थे।  करीब 2 बजे अचानक ही एक कमरे का छज्जा गिर गया जिसकी चपेट में महिला और 2 बच्चे आ गए।हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर नगर निगम और पुलिस की टीम पहुँची और कड़ी मसक्कत के बाद 3 लोगो को निकाला। इस घटना में दुर्घटिया बाई और रईस की जहाँ मौके पर ही मौत हो गई वही अनिकेत का ईलाज अस्पताल में चल रहा है।