विवेक तनखा ने निर्वाचन आयोग के अधिकारियों पर लगाया भेदभाव का आरोप

जबलपुर| कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और पार्टी की संभागीय चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष विवेक तन्खा ने चुनाव आयोग के अधिकारियों पर फिर एक गम्भीर आरोप लगाया है। विवेक तन्खा का कहना है कि कांग्रेस पार्टी को निर्वाचन आयोग की ओर से संशोधित वोटर लिस्ट की स्कैन्ड कॉपी दी गई है जबकि नियमानुसार ये सूची टैक्स्ट फॉर्मेट में दी जानी थी। विवेक तन्खा के मुताबिक स्कैन्ड कॉपी में वोटर लिस्ट वेरिफिकेशन के कई काम नहीं किए जा सकते लिहाजा इसके पीछे कांग्रेस की चुनावी तैयारियों को प्रभावित करने की साजिश भी हो सकती है। 

विवेक तन्खा ने चुनाव आयोग के अधिकारियों की निष्पक्षता पर सवाल उठाते हुए उनसे वोटर लिस्ट की टैक्स्ट कॉपी जल्द से जल्द देने की मांग की है। वहीं प्रदेश की नई वोटर लिस्ट में करीब 24 लाख नाम काटे जाने को विवेक तन्खा ने कांग्रेस के आरोपों की पुष्टि होना बताया है।  तन्खा ने तो ये भी दावा किया कि नई वोटर लिस्ट की जांच में भी बहुत सी गड़बड़ियां उजागर हो सकती हैं जिसके लिए उन्होंने वोटर लिस्ट की टैक्स्ट कॉपी मांगी है। 


दिग्विजय सिंह को बेइज्जत कर रही  सरकार

दिग्विजय सिंह को भोपाल में अब तक बंगला ना दिए जाने और उनकी सुरक्षा कैटेगिरी घटाए जाने पर विवेक तन्खा ने राज्य सरकार को जमकर घेरा। तन्खा ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार छोटी मानसिकता से काम करते हुए दिग्विजय सिंह को बेइज़्ज़त कर रही है और आगामी चुनाव में बीजेपी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। वहीं विवेक तन्खा ने सीएम की जनआशीर्वाद में सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के आरोप पर कायम रहते हुए इसके ख़िलाफ़ अदालत भी जाने की बात की है।