ढोल नगाड़ों के साथ बीजेपी ने सरकार को जगाने निकाली लालटेन यात्रा

जबलपुर। प्रदेश में काँग्रेस की सरकार बनने के बाद एक दिन भी जनता चैन से नही रही और हर मुद्दे पर विफल प्रदेश सरकार द्वारा झूठा बिजली संकट पैदा कर जनता को परेशान करना दर्शाता है कि इन्हें जन सुविधाओं से सरोकार नहीं है यह आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी जबलपुर के द्वारा तीन पत्ती चौक से लालटेन यात्रा निकाली गई।प्रदेश में कमलनाथ सरकार की नाकामी के कारण पैदा हुए भीषण बिजली संकट को लेकर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवँ साँसद राकेश सिंह ने प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में लालटेन यात्रा निकालकर सरकार की नाकामी जनता को बताने का आह्वान किया था और इस प्रदेशव्यापी आंदोलन के तहत भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा जबलपुर में भी लालटेन यात्रा निकाली गई। 

भाजपा की लालटेन यात्रा तीन पत्ती चौक से प्रारम्भ हुई जो कि मालवीय चौक, लॉर्डगंज चौक, बड़ा फुहारा, अँधेरदेव, करमचंद चौक, नौदरा ब्रिज होते हुए वापस तीन पत्ती चौक में समाप्त हुई।इस विरोध यात्रा में लालटेन लेकर प्रदेश सरकार के विरोध में गगनभेदी नारे लगाए और जनता को उनकी नाकामी से अवगत कराया। 

लालटेन यात्रा का नेतृत्व कर रहे भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद गोटिया ने कहा की काँग्रेस की सरकार आते ही लालटेन युग की पुनः शुरुआत हो गई है और आज से 16 वर्ष पहले तत्कालीन काँग्रेस के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में जिस बिजली संकट को हमने झेला था उसकी पुनरावृत्ति दिखाई देती है।विनोद गोटिया ने कहा कि काँग्रेस सरकार जो कि झूठे वादों और कच्चे इरादों के साथ सत्ता में आई है। उन्होंने जहाँ एक ओर प्रदेश के किसान, युवा और महिलाओ के विश्वास के साथ कुठाराघात किया है वही प्रदेश में पैदा हुए इस बिजली संकट पर अपनी नाकामी छिपाने उन्होंने कभी भाजपा तो कभी अधिकारियों पर इसका ठीकरा फोड़ने का प्रयास किया और अब सरकार उपकरणों की कमी और उनकी खराबी का बहाना बनाकर नए उपकरण खरीदी में भर्ष्टाचार की शुरुआत करने की तैयारी कर रही है। जबकि इन्हीं बिजली उपकरणों के द्वारा पिछले 15 सालों से मध्यप्रदेश में निर्बाध बिजली की आपूर्ति की जा रही थी। कमलनाथ सरकार की इस हरकत से यह आशंका बढ़ गयी है कि सरकार बिजली संकट की आड़ में कोई ट्रांसफार्मर और अन्य बिजली उपकरणों की खरीदी का घोटाला करना चाहती है। 

प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद गोंटिया ने इस अवसर पर कहा जब शिवराज जी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार मप्र में थी तब तक प्रदेश में बिजली सरप्लस थी और अचानक बिजली की कमी हो गई यह सब सोची समझी रणनीति और काँग्रेस सरकार की जनता विरोधी नीति को दर्शाता है।

"To get the latest news update download the app"