विस्थापितों के साथ बीजेपी का जंगी प्रदर्शन, पुलिस ने रोका, सरकार के खिलाफ की नारेबाज़ी

जबलपुर|

लोकसभा चुनाव के ख़त्म होते ही मध्य प्रदेश में नगरी निकाय चुनाव की सरगर्मिया शुरू होने वाली है,उससे पहले ही पार्टियों के आंदोलन जोर पकड़ने लगे है,इसी कड़ी में जबलपुर में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओ ने मदन महल पहाड़ी से विस्थापित किये गए लोगो को लेकर मोर्चा खोल दिया है...जिसके चलते तिलहरी इलाके में बसाये गए मदन महल पहाड़ियों से विस्थापित किए गए लोगों को प्रशासन के वादे के मुताबिक़ मूलभूत सुविधाए दिलाने के लिए कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने का ऐलान किया था...अपने उसी ऐलान के तहत भाजपा कार्यकर्ता विस्थापितों के साथ जब कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने जा रहे थे..तभी पुलिस ने उन्हें घंटाघर चौक पर रोक लिया...जिस पर बीजेपी कार्यकर्ताओ की पुलिस के साथ हल्की धक्का मुक्की भी हुई...लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे नहीं जाने दिया...जिसके बाद बीजेपी कार्यकर्ताओ और विस्थापितों ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के साथ जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की...दरअसल विरोध जता रहे लोगों को हाईकोर्ट के आदेश पर मदन महल की पहाड़ियों से लगभग 5 माह पहले विस्थापित कर दिया गया था...लेकिन वादे के मुताबिक़ न तो उन्हें जमीन के पट्टे दिए गए और न ही उनके रहने की व्यवस्था की गई.. जिसकी वजह से इस भीषण गर्मी में खुले आसमान के नीचे लोगो को अपने परिवार और बच्चों के साथ रहना पड़ रहा है...इतना ही नहीं गर्मी के चलते बीते दिनों तिलहरी में बसे इन विस्थापितों में से 2 लोगों की मौत भी हो गई...जैसे ही ये खबर बीजेपी कार्यकर्ताओ को लगी..उन्होंने पीडितो को उनका हक़ दिलाने के लिए घेराव करने का ऐलान किया था...विरोध कर रहे बीजेपी नेताओं का कहना था कि कमलनाथ सरकार ने वक्त बदलाव का नारा दिया था... लेकिन इन विस्थापितों के साथ सरकार भेदभाव कर रही है आज विस्थापितों की ओर से प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया है...और मांग की गई है कि अगले 1 हफ्ते में विस्थापितों की समस्याओं को हल किया जाए और अगर ऐसा नहीं किया गया तो बीजेपी उग्र आंदोलन करेगी।

"To get the latest news update download the app"