गुजरात से सबक लेकर सतर्क हुआ प्रशासन, एसपी ने दिए कोचिंग सेंटर जांच के आदेश

जबलपुर। सूरत के कोचिंग सेंटर में हुए अग्नि हादसे के बाद देशभर में हड़कंप मच गया है। सूरत के जैसा हादसा दोबारा ना हो इसके लिए प्रशासन ने कदम उठाना शुरू कर दिए है। बात यदि मध्य प्रदेश के दिल कहलाने वाले जबलपुर की करें तो यहां भी प्रशासन ने सूरत हादसे के बाद सतर्कता बरतना शुरू कर दी है। जिसके चलते जबलपुर पुलिस अधीक्षक ने सूरत हादसे से सबक लेते हुए जबलपुर के कोचिंग सेंटर से की जांच करने के आदेश पुलिस अधिकारियों को दिए। 

अपने कप्तान से मिले आदेश के बाद जबलपुर का पुलिस महकमा हरकत में आ गया और शहर में संचालित होने वाले तमाम कोचिंग सेंटर के खिलाफ मोर्चा खोल जांच शुरू कर दी। पुलिस अधिकारियों ने अपने-अपने थाना क्षेत्रों में संचालित हो रहे कोचिंग सेंटरों की बारीकी से जांच की और आग लगने पर होने वाले हादसों सहित दूसरे कारणों से होने वाले हादसों से निपटने के इंतजाम को देखा। अपने इस चेकिंग अभियान के दौरान पुलिस अधिकारियों ने पाया किन के थाना क्षेत्रों में संचालित होने वाले ज्यादातर कोचिंग सेंटरों में सुरक्षा के इंतजाम ना के बराबर है। बात यदि जबलपुर के मदन महल थाना क्षेत्र की करें। तो यहां थाने के ठीक सामने संचालित हो रहे नामी कोचिंग सेंटर में हद दर्जे की लापरवाही देखने को मिली। 

जबलपुर एसपी के निर्देश पर जब मदन महल थाना प्रभारी ने अपनी टीम के साथ जाकर थाने के सामने संचालित हो रहे कोचिंग सेंटरों का दौरा किया तो वहां उन्होंने पाया की इन सेंटरों में आग से निपटने के लिए किसी भी तरह के कोई इंतजाम नहीं थे और ना ही छात्रों के निकलने के लिए अलग से कोई रास्ता था। क्योंकि इन सभी कोचिंग सेंटर में सभी क्लास पहली और दूसरी मंजिल पर तो लगाई जा रही थी। साथ ही कुछ सेंटर ऐसे भी थे, जहां संचालकों ने छत पर अवैध तरीके से अतिक्रमण कर क्लास रूम बनाए हुए थे और उन क्लास में आने जाने के लिए सकरी सीढ़ियो का एक ही रास्ता था। जिसमें एक बार में एक ही छात्र पढ़ाई के लिए जा सकता था। या फिर वापस आ सकता था। ऐसे में यदि कोई हादसा हो जाए तो छात्र अपनी जान बचाने के लिए भाग भी नहीं सकते। इन तमाम को देखने के बाद पुलिस अधिकारियों ने जहां कोचिंग सेंटर के संचालकों को छात्रों की सुरक्षा के इंतजाम करने के तो निर्देश दिए है। वही उन्होंने नियमो को दरकिनार कर छत पर बिना अनुमति के क्लास रूम तैयार करने वाले कोचिंग संचालको के खिलाफ नगर निगम को भी एक पत्र लिखकर कार्रवाई करने कहा है।

"To get the latest news update download the app"