Breaking News
पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी, कहीं ठेले पर बाईक रख जताया विरोध तो कहीं धरने पर बैठे कांग्रेसी | VIDEO : भूरी टेकरी विस्थापन को लेकर निगम की कार्रवाई, कांग्रेस विधायक ने मांगी मोहलत | राहुल गांधी के कार्यक्रम पर प्रशासन की 19 शर्तें, सिर्फ 15 फ़ीट के टेंट में सभा की इजाजत | VIDEO : भोपाल मेयर की सख्त कार्रवाई, नगरनिगम की ट्यूबवेल से हटवाया दबंग का कब्जा | कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं को दिए निर्देश, मंडी में किसानों के साथ मिल सरकार के खिलाफ करें प्रदर्शन | प्रधानमंत्री योजना का आवास ना मिलने पर ग्रामीण ने खाया जहर, सरपंच-सचिव पर लगाया रिश्वत मांगने का आरोप | फेसबुक पर कलेक्टर को जान से मारने की धमकी, गृहमंत्री और सांसद पर भी आपत्तिजनक पोस्ट | 23 करोड़ का आईएएस.. | कांग्रेस प्रदेश कार्यसमिति का गठन, 20 जिला अध्यक्षों की घोषणा, दिग्विजय को अहम जिम्मेदारी | शिवराज कैबिनेट के फैसले, यहां पढ़िए विस्तार से |

चुनावी साल में बिफरे अतिथि शिक्षक, जलाये खून के दीपक.. BJP को वोट न देने की ली शपथ

कटनी| चुनावी साल में मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार की मुश्किलें बढ़ती जा रही है| एक वर्ग को मनाये तो दूसरा नाराज हो जाए| दुसरे को मनाये तो कोई और फिसल जाए| लेकिन विरोध हे कि ख़त्म ही नहीं हो रहा| सरकार ने अब तक विकास के बड़े-बड़े दावे किये, लेकिन पूरे नहीं हुए जो अब अधूरे वादे गले की फांस बन गए हैं| विरोध भी ऐसा जो अब तक देखा नहीं गया | पिछले दिनों महिला अध्यापकों ने सिर मुंडवा कर सरकार की वादा खिलाफी को लेकर अनोखा विरोध किया था, जिसकी गूँज दिल्ली तक गई थी| जिसके बाद शिवराज ने उनकी मांगें मान ली| अब विरोध इस कदर बढ़ रहा है कि लोग भाजपा को वोट न देने के लिए शपथ ले रहे हैं|   पिछले दिनों इटारसी के विजयलक्ष्मी आईटीआई में छात्रों द्वारा भाजपा को वोट न करने की शपथ लेने से शुरू हुआ यह सिलसिला अनवरत जारी है| अब प्रदेश के कटनी जिले में अतिथि शिक्षकों ने अनोखा विरोध किया है| आपने सुना होगा कि तेल से दिया जलाये जाते हैं लेकिन कटनी जिले के अतिथि शिक्षक अपने खून से दीये जलाकर शपथ ले रहे हैं | 

संकुल केंद्र बचाया बहोरीबन्द में अतिथि शिक्षकों ने भाजपा सरकार के विरोध मे अनोखा विरोध प्रदर्शन किया | अतिथि शिक्षकों ने खून के दीपक जलाये और शपथ ली भाजपा और शिवराज सरकार को वोट नहीं देंगे और 2018 में भाजपा सरकार के विरोध में काम करेंगे| वहीं अपने सगे संबंधियों से भी वोट नहीं दिलवाएंगे जब तक  मांगे पूरी नहीं की जाएगी तब तब तक भाजपा सरकार के विरोध में काम करेंगे|  

चुनावी साल है और हर वर्ग, विभाग अपनी मांगों को लेकर आंदोलन की राह पकडे हुए हैं| जिसने सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी है| लम्बे समय से कर्मचारियों की मांगों को टालने वाली सरकार अब चुनाव में नुक्सान की आशंका के चलते हड़बड़हाट में बड़े फैसले भी ले रही है| वहीं शपथ लेकर भाजपा के विरोध में वोट करने के इस सिलसिले ने सरकार और भाजपा नेताओं की नींद उड़ा रखी है| 



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...