VIDEO: जनसुनवाई में आपा खो बैठे तहसीलदार..बाबू को जड़ दिया थप्पड़

खंडवा| सुशील विधानी|आम जान की शिकायत और समस्या के निराकरण के लिए आयोजित की जाने वाली जनसुनवाई में अब अधिकारी कर्मचारी ही अपना आपा खो रहे हैं, लोगों की समस्या निपटाना तो दूर आपस में ही उलझ रहे हैं| ताजा मामला खंडवा में देखने को मिला, जहां मगलवार को जन सुनवाई के दौरान तहसीलदार गुस्से में आपा खो बैठे और सामाजिक कल्याण एवं न्याय विभाग के बाबू को सार्वजनिक तौर पर तमाचा जड़ दिया। इस दौरान जनसुनवाई में मौजूद सैकड़ों लोग की भीड़ वह जमा हो गई । इसके बाद एसडीएम ने मामला शान्त कराया ।

दरअसल,  खंडवा कलेक्टर ने जनसुनवाई में विकलांगों के लिए लगाए गए जनसुनवाई टेबल पर एक पेंशन के हितग्राही ने अपनी समस्या बताई तो तहसीलदार प्रताप सिंह आगाशिया ने उसी टेबल पर मौजूद सामाजिक एवं न्याय विभाग के बाबू एम के अग्रवाल को उसका निराकरण करने को कहा ।  बाबू ने इस में असमर्थता जताई । बार-बार कहने के बावजूद भी जब बाबू ने उसका निराकरण नहीं किया तो गुस्से में तमतमाए तहसीलदार प्रताप सिंह अगासिया ने खड़े होकर बाबू एम के अग्रवाल को 2- 3 तमाचा जड़ दिए।  इस दौरान वहां मौजूद लोगो की भीड़ जमा हो गई । यही नहीं तहसीलदार और बाबू में काफी देर तक विवाद भी होता रहा। बाद में SDM ने बाबू को हाथ पकड़कर जनसुनवाई से बाहर कर दिया|

इस मामले में तहसीलदार का आरोप है कि बाबू उनकी कहने की बात को बार-बार टाल रहा था । जबकि बाबू ने कहा कि मेरे पास सिर्फ विकलांगों के आवेदन का चार्ज था जबकि आवेदक पेंशन की समस्या लेकर आया था जिसका टेबल अलग जगह लगाया गया था।  बहरहाल जनसुनवाई में जब अधिकारी और कर्मचारी आपस में इस तरह से लड़ने लगेंगे तो आम लोगों की समस्याएं जस की तस ही रह जाएंगी ।