VIDEO: घर-घर लगे पोस्टर, "ये सामान्य वर्ग के लोगों का घर है, वोट मांगकर शर्मिंदा न करें"

खरगोन| एससी-एसटी कानून पर केंद्र सरकार की ओर से लाए गए अध्यादेश और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आरक्षण को लेकर बार बार दिए जा रहे बयान के विरोध में सवर्ण समाज ने मोर्चा खोल दिया है, कई जगह सड़कों पर उतर कर लोग विरोध जाता रहे हैं, वहीं खरगोन में अनूठा विरोध देखने को मिला| यहां घरों के बाहर पोस्टर लगाए गए हैं, जिसमे लिखा है निवेदन है - यह घर सामान्य वर्ग का है। राजनैतिक पार्टियां वोट मांगकर हमें शर्मिंदा ना करें। इस तरह से लोगों का खुला विरोध शुरू हो गया है। शहर की चार कॉलोनियों आदर्श नगर, जानकी नगर, यमुना कुंज और वसंत विहार में इस तरह के कई पोस्टर घरों के बाहर युवाओं और महिलाओं ने लगाए। 

खरगोन जिला मुख्यालय पर आरक्षण को लेकर लोग मुखर हो गए हैं। स्वर्ण और पिछड़ा वर्ग के लोगों ने दोनों ही पार्टियों का विरोध करते हुए अपने घरों के बाहर पोस्टर चस्पा कर दिए। उन्होंने कहा कि यह घर सामान्य वर्ग का है, कृपया राजनीतिक पार्टी वोट मांग कर हमे शर्मिंदा ना करें। युवा ही नहीं महिलाएं भी इस पहल में आगे हैं। महिलाओं ने खुद अपने घरों के बाहर और पड़ोसियों के यहां इस तरह के पोस्टर लगाए। युवाओं ने आरक्षण समाप्त कर आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की मांग की है। शहर की आदर्श नगर, जानकी नगर यमुना कुंज, वसंत विहार, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में इस तरह के पोस्टर चस्पा किए गए हैं।