Breaking News
MP: चुनाव से पहले किसानों को खुश करेगी सरकार, 28 को खाते में आएगा बोनस | एट्रोसिटी एक्ट : सीएम की मंशा पर महिला अधिकारी ने उठाये सवाल, देखिये वीडियो | भाजपा कार्यकर्ता महाकुंभ कल, पोस्टर-कटआउट से नदारद उमा और गौर, मचा बवाल | खुशखबरी : मध्यप्रदेश के युवाओं के लिए सुनहरा मौका, अक्टूबर मे निकलेगी सेना भर्ती रैली | चुनाव से पहले शिवराज कैबिनेट की बैठक में कई बड़े फैसले, इन प्रस्तावों को मिली मंजूरी | शिवराज के बाद अब केंद्रीय मंत्री के बदले स्वर, एट्रोसिटी एक्ट को लेकर दिया ये बयान | पीड़िता का आरोप- एसपी ने मांगा रेप का वीडियो, तब होगी सुनवाई | इंजीनियर पर भड़के मंत्रीजी, सस्पेंड करने की दी धमकी | दो पक्षों में विवाद, पथराव-आगजनी, 2 पुलिसकर्मी समेत 8 घायल, धारा 144 लागू | भाजपा में बगावत शुरु, पदमा शुक्ला के बाद कटनी से दो दर्जन और इस्तीफे |

गुड न्यूज: ट्रेनों में अब ईको फ्रेंडली थालियों में खाना परोसेगा रेलवे

ग्वालियर।अतुल सक्सेना|  ट्रेनों में मिलने वाले खाने में थालियों के साथ परोसी जाने वाली गंदगी से यात्रियों को बहुत जल्द निजात मिल जाएगी। रेलवे अब ईको फ्रेंडली थालियों में खाना परोसेगा। रेलवे अभी जिन थालियों या प्लेटों में खाना परोसता हैं उसमें तेल की परत जमा होने के अलावा गंदगी की शिकायत यात्रियों को रहती है। इसके अलावा ये थालियां या प्लेट आसानी से नष्ट भी नहीं होती। इसलिए रेलवे ने इसे बदलने की तैयारी कर ली है। रेलवे अब जल्दी ही ईको फ्रेंडली थालियों का उपयोग करेगा। गन्ने के अपशिष्ट से बनने वाली ये थालियां यूज एंड थ्रो होंगी यानि इन्हें एक बार इस्तेमाल करने के फेंका जा सकेगा।

थाली में बने होंगे खांचे

रेलवे अभी तक जिन थालियों में खाना परोसता था उसमें दाल सब्जी रखने के लिए खांचे नहीं होते थे इसलिए रेलवे दाल सब्जी सिल्वर फॉयल में रखकर देता था लेकिन अब रेलवे को इससे भी छुटकारा मिल जायेगा । रेलवे ईको फ्रेंडली  थालियों में दाल सब्जी के लिए अलग से खांचे बने होंगे। 

IRCTC उपलब्ध कराएगा थाली

ईको फ्रेंडली थालियां उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी IRCTC  को रेलवे ने दी है। जल्दी ही शताब्दी, राजधानी और दुरंतो जैसी गाड़ियों के अलावा पेंट्री कार वाली सुपरफास्ट गाड़ियों में ईको फ्रेंडली थालियों में खाना परोसा जाने लगेगा।

इस नई व्यवस्था के कई फायदे होंगे । सबसे ज्यादा गन्ना किसानो को लाभ होगा अभी तक जिस गन्ने के वेस्ट मटेरियल को फेंक देते थे या जला कर नष्ट कर देते थे उसकी अब कीमत मिलेगी साथ ही ईको फ्रेंडली होने के कारण पर्यावरण को नुकसान भी नहीं पहुंचाएंगी और जल्दी नष्ट हो जायेंगी

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...