अकबर पर इस्तीफे का दबाव, सरकार चिंतित

भोपाल। महिलाओं के शोषण के आरोपों से घिरे केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि इस मामले में सरकार बेहद चिंतित है। उन्होंने कहा कि अभी तक अकबर की ओर से कोई सफाई नहीं आई है। हालांकि तोमर ने यह नहीं बताया कि सरकार ने अकबर से सफाई मांगी है या नहीं। केंद्रीय मंत्री आज राजधानी भोपाल में एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार महिलाओं के मामले में हमेशा गंभीर रही है। अभी अकबर का पक्ष सरकार के पास नहीं आया है। 

उल्लेखनीय है कि मीट अभियान में पिछले एक पखवाड़े के भीतर केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर 9 महिलाओं ने शोषण के आरोप लगाए हैं। इसके बाद मोदी सरकार पर अकबर के इस्तीफे का दबाव बढ़ गया है। बताया गया कि सरकार ने नाइजीरिया दौरे पर गए मंत्री एमजे अकबर को तत्काल वापस लौटने को कहा है। अकबर स्वदेश लौटकर महिलाओं के आरोपों पर सरकार को सफाईदेंगे। इसके बाद अकबर के इस्तीफे पर फैसला लिया जाएगा। 

मप्र से राज्यसभा सांसद हैं अकबर

एमजे अकबर मप्र से राज्यसभा सांसद हैं। शोषण के आरोप लगने के बाद उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर करने की पूरी संभावना है। पार्टी सूत्र बताते हैं कि अकबर को लेकर पार्टी में शीर्ष स्तर पर फैसला हो चुका है। सिर्फ अकबर का पक्ष जानने की औपचारिकता शेष रह गई है।