सरकार को डेढ़ महीने में ही जनता लगने लगी 'भीड़'

भोपाल। प्रदेश में गरीब, किसान, मजदूर, महिलाओं की सरकार होने का दावा करने वाली कांगे्रस सरकार की कथनी और करनी में अंतर नजर आने लगाा है। सत्ता में आए अभी डेढ़ महीना हुआ है और अब लोग सरकार को भीड़ नजर आने लगी है। यही वजह है कि मुख्यमंत्री सचिवालय समेत, एनेक्सी के कुछ प्रवेश द्वार बंद कर दिए गए हैं। जिससे लोगों को सीएम सचिवालय एवं अन्य मंत्रियों तक पहुंचने में परेशानी हो रही है।

दरअसल एनेक्सी-2 में पांचवी मंजिल पर स्थित मुख्यमंत्री सचिवालय के एक प्रवेश द्वार को इसलिए बंद किया है, क्योंकि सचिवालय में लोगों की भीड़ काफी संख्या में पहुंच रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के पदभार संभालने के बाद से ही मंत्रालय में आम लोग एवं कांग्रेस कार्यकर्ता बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। शुरूआत में आम लोग एवं पार्टी कार्यकर्ता आसानी से सीएम सचिवालय तक पहुंच जाते थे, लेकिन अब सुरक्षा एवं अन्य कारणों से सख्ती बरती जा रही है। यही वजह है कि एनेक्सी-2 के चतुर्थ तल पर जीएडी मंत्री, मुख्य सचिव कार्यालय के एक प्रवेश द्वार को बंद कर दिया गया है। इसी तरह पांचवी मंजिल पर मुख्यमंत्री सचिवालय के  लिफ्ट के पास के दरबाजे को बंद किया गया है। इसके पीछे की वजह सुरक्षा को बताया जा रहा है, लेकिन असल वजह आम लोग एवं पार्टी कार्यकर्ताओं की भीड़ हैं। 


पास के लिए लगती है लाइन

कांगे्रस सरकार आने के बाद मंत्रालय के मुख्य प्रवेश द्वार पर पास बनवाने के लिए लंबी-लंबी लाइनें लगती हैं। जबकि भाजपा सरकार के समय इतनी लंबी लाइन नहीं लगती थीं। प्रदेश भर से बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता एवं आम लोग भोपाल पहुंच रहे हैं। ज्यादातर लोग मंत्रालए एनेक्सी को देखने वाले होते हैं। जो किसी मंत्री, विधायक के समर्थक होते हैं। 


राहुल की नसीहत बेअसर 

कांगे्रस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भोपाल में किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री और मंत्रियों के दरबाजे जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए हमेशा खुले रहेंगे। जबकि मप्र सरकार को डेढ़ महीने के भीतर ही जनता अब भीड़ नजर आने लगी है। यही वजह है कि मंत्री और मुख्यमंत्री ने आम जनता से पहले ही अपेक्षा दूरी बना ली है।

"To get the latest news update download the app"