सीईओ बोली- एक सचिव की मां मरी है, सबकी नही, काम तो करना पड़ेगा, मचा बवाल

विदिशा। मध्यप्रदेश के विदिशा जिले में जनपद सीईओ वंदना शर्मा के बयान के बाद बवाल मच गया है। पंचायत सचिवों ने शर्मा के खिलाफ मोर्चा खोल काम बंद कर दिया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि सीईओ का सचिवों के प्रति व्यवहार ठीक नही है। सचिवों का कहना है आज हमारे एक सचिव साथी की मां खत्म हो गई है जिसके कारण हम लोगों ने मैडम से आज अंत्येष्टि में जाने और काम ना करने की बात कही थी इस पर जनपद सीईओ का कहना था कि एक सचिव की मां मरी है क्या सब की मां मर गई काम तो करना पड़ेगा। इसके विरोध में आज पंचायत सचिवों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर भी जमकर नारेबाजी और जिला पंचायत सीईओ समेत एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।

 दरअसल, इन दिनों पंचायतों में किसान ऋण माफी योजना के मामले में कामकाज जारी है। इसी के चलते पंचायत सचिव दिन रात काम में लगे हुए है। काम के सिलसिले में अक्सर सीईओ के पास जाना होता है। सचिव जब सीईओ को काम के बारे में पूछने जाते है तो वे कहती है  आप जानों, मुझे कुछ नहीं मालूम। कैसे काम करना है तुम करो। सचिवों को आरोप है कि वे किसानों ऋण माफी योजना में दिनरात कार्य कर रहे। इसके बाद भी जनपद सीईओ शर्मा द्वारा उन्हें प्रोत्साहित करना तो दूर उनसे ठीक से व्यवहार तक नहीं किया जाता। वही एक सचिव ने बताया कि आज हमारे एक सचिव साथी की मां खत्म हो गई है जिसके कारण हम लोगों ने मैडम से शुक्रवार को अंत्येष्टि में जाने और काम ना करने की बात कही थी इस पर जनपद सीईओ वंदना शर्मा ने कहा की एक सचिव की मां मरी है क्या सब की मां मर गई काम तो करना पड़ेगा।इस बयान के बाद जिला पंचायत मे बवाल मच गया है।

सीईओ के गलत व्यवहार के चलते पंचायत सचिवों में आक्रोश व्याप्त हो गया है। वे जनपद पंचायत सीईओ की शिकायत करने आज कलेक्ट्रेट भी पहुंचे जहां जमकर नारेबाजी की।जिला सचिव संघ ने आज पंचायतों के काम रोक कर अपना विरोध प्रकट किया और सारे सचिव कलेक्ट्रेट पहुंचकर एसडीएम को ज्ञापन दिया साथी जिला पंचायत के सीईओ डॉक्टर पंकज जैन को भी ज्ञापन सौंपा जिसमें उन्होंने विदिशा जनपद सीईओ वंदना शर्मा द्वारा गलत व्यवहार की बात कही है । वरिष्ठ अधिकारियों ने भी इस विषय पर जाँच करने की बात कही है। वही विभागीय व्हाट्सएप ग्रुप से सभी सचिवों ने खुद को बाहर कर लिया है। 

"To get the latest news update download tha app"