विदेश दौरे पर जाने से पहले बोले कमलनाथ- 2 महिने बाद बताउंगा कितना निवेश आएगा

भोपाल। आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ आईएएस सर्विस मीट के शुभारंभ के बाद दिल्ली रवाना हो गए। वे यहां से शाम को स्विट्जरलैंड के दावोस में वल्र्ड इकोनोमिक फोरम की बैठक के लिए रवाना होंगे। वे दावोस में एक सप्ताह रहेंगें। उनके साथ मुख्य सचिव एसआर मोहन्ती और अन्य अफसर भी रवाना हुए है। विदेश दौरे पर जाने से पहले कमलनाथ ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि निवेश के लिए विश्वास जरूरी है। मैं उद्योगपतियों के संपर्क में हूं दो महीने बाद बता पाउंगा कि मप्र में कितना नया निवेश आने वाला है। कई बड़े उद्योगपतियों से बात हुई है, जल्द ही इसका रिजल्ट देखने को मिलेगा। सीएम के साथ मुख्य सचिव एसआर मोहंती, अशोक बर्णवाल, मो. सुलेमान भी दावोस जाएंगे।

इससे पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ IAS सर्विस मीट का शुभारंभ करने पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने अफसरों को वक्त के साथ बदलने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि रिटायरमेंट के साथ ही अचीवेंट खत्म हो जाता है, लेकिन संतुष्टि नहीं। ये बदलती दुनिया बदलते देश का दौर है, अफसरों को भी वक्त के साथ बदलाव लाना होगा। कमलनाथ ने कहा कि फसल पाले को लेकर सर्वे कराया जा रहा है जैसे ही रिपोर्ट आएगी आगे कदम उठाए जाएंगे। किसी भी किसान के साथ अन्याय नहीं होगा।वही उन्होंने मंदसौर की घटना को लेकर कमलनाथ ने कहा कि अभी जहां तक पता चला है यह भाजपा के अंदरूनी मामले हैं बाकी पूरी रिपोर्ट आ जाए तब बताया जा सकेगा। 

वही गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कैबिनेट की बैठक बुलाई थी और मंत्रियों-अधिकारियों से जय किसान ऋणमाफी योजना का फीडबैक लिया था। इसके साथ ही एक महीने में हुए सरकार के कामकाज की समीक्षा की थी। बताते चले कि गुरुवार को ही कमलनाथ सरकार को एक महिना पूरा हुआ है।विदेश जाने से पहले सीएम कमलनाथ ने कुछ मंत्रियों को कामों का जिम्मा भी सौंपा, जो मुख्यमंत्री के लौटने तक पूरा कामकाज संभालेंगें।




"To get the latest news update download the app"