संगम में आस्था की डुबकी लगाने प्रयागराज जाएंगें कमलनाथ

भोपाल।

 मुख्यमंत्री कमलनाथ 22 फरवरी को प्रयागराज (इलाहाबाद) में अर्ध्दकुंभ में शामिल होने जाएंगें और यहां संगम तट पर कुंभ स्नान करेंगे।इस दौरान राज्य सरकार कुंभ में मप्र का स्टॉल भी लगाएंगी, जिसमें मप्र के मशहूर कथावाचक मौजूद रहेंगे।इस स्टॉल में उन लोगों का  मार्गदर्शन किया जाएगा जो मप्र से वहां पहुंचेंगे। इसके अलावा स्टाल में मप्र की संस्कृति और विशेषताओं को दर्शाने वाली पेंटिंग आदि भी लगाई जाएंगी।इसके साथ साथ यहां प्रदेश के साधु-संतों की भी सुविधा का ख्याल रखा जाएगा।इस बात की जानकारी जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने दी है।

दरअसल, उत्तरप्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य 5 जनवरी को भोपाल आए थे। उस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री के निवास पहुंचकर उन्हें और मध्यप्रदेश वासियों को प्रयागराज कुंभ में शामिल होने का निमंत्रण दिया था,जिसे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी उसी समय स्वीकार कर लिया था। अब मुख्यमंत्री कमलनाथ 22  फरवरी को प्रयागराज में होने वाले कुंभ मेले में शामिल होने के लिए प्रयाग जाएंगे। कुंभ मेले में मध्यप्रदेश की संसकृति और परंपरा को दर्शाने के लिए पंडाल भी बनाया  जाएगा।ताकि कुंभ में जाने वाले मध्यप्रदेश के लोगों को किसी तरह की परेशानियां ना हो। इसमें साधु संतों और लोगों को सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।  सीएम के साथ कैबिनेट के कई मंत्री भी मौजूद रहेगे।

बता दे कि  प्रयागराज में 15 जनवरी से कुंभ मेले की शुरुआत हो रही है, जो महाशिवरात्रि तक चलेगा। पहला शाही स्नान 15 जनवरी को होगा। प्रयागराज अर्धकुंभ में इस बार 192 देशों के लोग शामिल होने जा रहे हैं। कुंभ का बजट 43 सौ करोड़ रखा गया है। साथ ही मेला क्षेत्र में ढाई सौ किलोमीटर सड़क का निर्माण किया गया है। वहीं 40 हजार एलइडी और पूरे मेले की निगरानी के लिए सीसीटीवी फुटेज भी लगवाए गए हैं। कुंभ में इस बार करीब 12 करोड़ लोगों के आने की उम्मीद है। इसके पहले प्रयागराज में साल 2013 में कुंभ हुआ था, जब प्रयागराज 'इलाहाबाद' हुआ करता था। 



"To get the latest news update download tha app"