लापरवाही ने ले ली जान, करंट से मौत के बाद जलता रहा शव

राजगढ़| मनीष सोनी| मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के पिपलियादेव गांव में बिजली विभाग की लापरवाही से एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई। जिले के पचोर के समीप पिपलियादेव गांव निवासी कमल नागर बिजली सप्लाई का परमिट लेकर लाईन सही करने बिजली के पोल पर चढ़ा था। इसी बीच विभाग के लापरवाह कर्मचारियों के द्वारा लाईन चालू कर देने के कारण करंट लगने से मौके पर ही उसकी मौत हो गई । बिजली के पोल पर ही युवक धु -धु कर जलता रहा ।

मामला जिले के पचोर सबस्टेशन के पिपलियादेव गाँव का है, जहां 30 वर्षीय कमल नागर, लाइनमैन के साथ हेल्पर के रूप में काम कर रहा था। पिपलिया देव गाँव मे लाइन सुधार कार्य के लिए खराबी को ठीक करने के लिए कमल नागर विधुल पोल पर परमिट लेकर चढ़ गया।  लाइन में सुधार कार्य  को ठीक करने के लिए परमिट ले रखा था। अचानक लाइन चालू होने से वह करंट की चपेट में गया। जिससे कमल नागर विधुत पोल पर ही करंट से धु -धु कर जलने लगा  कमल को विधुत पोल पर जलता देख नीचे खड़े महिला व पुरुष रोने लगे व चीख पुकार की आवाजें आने लगी , कुछ समय तक कमल नागर का शव विधुत पोल पर ही जलता रहा , बाद में शव पोल से नीचे गिर गया  बिजली विभाग की  बड़ी लापरवाही से एक युवक की जान चली गई|


ये है सवाल 

सवाल 1 जब युवक विभाग में पदस्थ नही था तो पोल पर क्यो उसे सुधार कार्य के लिए चढ़ाया गया ।


सवाल 2 

जब लाइन सुधार कार्य के लिए परमिट था तो लाइन चालू कैसे हो गई ।।


सवाल 3

कमल नागर युवक की मौत का जिम्मेदार कौन है , वो लाइन में जिसने इसे अपनी जगह चढवाया था या फिर बिजली विभाग ?


सवाल 04

परमिट होने के बाद भी लाइन चालू किसने की



"To get the latest news update download the app"