शिवराज ने बताया कब होगा भोपाल से उम्मीदवार का ऐलान, खुद चुनाव लड़ने से किया इंकार!

बैतूल

भोपाल लोकसभा सीट को लेकर अब भी सस्पेंस बरकरार है। पार्टी अबतक उम्मीदवार का नाम तय नही कर पाई है। टिकट को लेकर पार्टी में जबरदस्त मंथन किया जा रहा है। इसी बीच भोपाल से उम्मीदवारों की दौड़ में शामिल पूर्व मुख्यमंत्री का बड़ा बयान सामने आया है। शिवराज का कहना है कि भोपाल के प्रत्याशी का फैसला एक या दो दिन के भीतर हो जाएगा। भोपाल से भाजपा का कोई साधारण कार्यकर्ता भी चुनाव जीतेगा, वहां मेरी जरूरत नहीं है। शिवराज के बयान से ये साफ है कि वे ये चुनाव लड़ना नही चाहते है, हालांकि भोपाल से उनका नाम चर्चा मे बना हुआ है।

दरअसल, आज प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भाजपा प्रत्याशी दुर्गादास उईके के समर्थन मेंसभा करने बैतूल पहुंचे थे। जहां उन्होंने भोपाल लोकसभा सीट पर प्रत्याशी चयन में देरी के सवाल पर कहा कि भोपाल के प्रत्याशी का फैसला एक या दो दिन के भीतर हो जाएगा। भोपाल से भाजपा का कोई साधारण कार्यकर्ता भी चुनाव जीतेगा, वहां मेरी जरूरत नहीं है।भाजपा का कार्यकर्ता रसगुल्ला नहीं है, हम अपनी पर आ गए तो दुनिया की किसी भी अन्याय करने वाली सरकार से लड़ सकते हैं। 

प्रदेश की कमलनाथ सरकार और कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए शिवराज  ने कहा कि राहुल गांधी ने 10 दिन में कर्जा माफी का वादा किया। इनके जैसा झूठा मैंने आज तक नहीं देखा। एक तरफ राहुल जी कर्जा माफी का ढिंढोरा पीटते हैं, तो दूसरी तरफ कमलनाथ किसानों को मैसेज भेजकर कहते हैं कि आचार संहित के कारण कर्जा माफी चुनाव के बाद होगा। जनता की सारी योजनाएं बन्द कर दी गईं। कर्ज माफ करने का सफेद झूठ बोला। जनता परेशान हो गई है। 

शिवराज ने कहा कि मक्का, लहसुन, प्याज का बोनस नहीं मिल रहा है। रोज किसान मेरे पास आ रहे हैं और कह रहे हैं कि मामा, मर गये। वापस आ जाओ। संबल योजना बंद कर दिया। कफन तक का पैसा कांग्रेस खा गई ।रोजगार के नाम पर कमलनाथ कह रहे हैं कि ढोर चराओ, बंदर नचाओ। रोजगार के नाम पर युवाओं के साथ कांग्रेस मजाक कर रही है। जनता के साथ यह मजाक कांग्रेस को भारी पड़ेगा।

"To get the latest news update download the app"