मंत्री पिता के बचाव में उतरा बेटा, कैलाश-आकाश विजयवर्गीय को दी ये चुनौती

इंदौर।

भाजपा नेता कैलाश-आकाश विजयवर्गीय और कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के बीच छिड़ा युद्ध खत्म होता नही नजर आ रहा है। भाजपा विधायक आकाश के चैलेंज के बाद अब मंत्री वर्मा के समर्थन में उनके बेटे पवन उतर आए है । उन्होने आकाश और कैलाश विजयवर्गीय को सीधे चुनौती देते हुए कहा कि अब हिम्मत है तो इंदौर आने से रोक कर बताएं।

मंत्री सज्जन वर्मा के बेटे पवन वर्मा ने कैलाश विजयवर्गीय पर आरोप लगाते हुए कहा है कि  जब कैलाश विजयवर्गीय इंदौर के महापौर थे, तब सज्जन वर्मा प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री हुआ करते थे। उस वक्त मेरे पिता की चापलूसी करने के लिए कैलाश विजयवर्गीय सिटी जिमखाना क्लब आया करते थे।  पवन वर्मा ने कहा कि महापौर रहते कैलाश विजयवर्गीय तत्कालीन नगरीय प्रशासन मंत्री सज्जन वर्मा का इंतजार करते थे। हमारा घर इंदौर की पलसीकर कॉलोनी में है और हमें वहां आने से रोककर दिखा दें। साथ ही कहा है कि मेरे पिता सज्जन हैं और उनके नाम के साथ सिंह भी जुडा हुआ है। घमंड मत करो क्योंकि घमंड तो रावण का भी नहीं रहा, तो फिर गीदडों का कैसे रह सकता है।

दरअसल, बीते दिनों कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और उनके विधायक बेटे आकाश पर जमकर हमला बोला था । इसके बाद इंदौर के क्षेत्र क्रमांक 3 के विधायक आकाश विजयवर्गीय ने एक वीडियो जारी कर मंत्री वर्मा को चैलेंज देते हुए कहा था कि आपकी क्या हैसियत है ये आप स्वयं जानते है तब ही तो आप इंदौर से चुनाव नही लड़ते और सोनकच्छ भाग जाते है। आपका पूरा परिवार मुझे चुनाव हराने में लग गया था उसके बावजूद में चुनाव जीतकर आया। ये तो सिर्फ ट्रेलर है, आप इंदौर आकर तो दिखाये आपको अपनी औकात का अंदाजा हो जाएगा।इस पर जमकर हंगामा मचा था, जिसके बाद अब मंत्री पुत्र ने पिता का समर्थन करते हुए आकाश-कैलाश को चुनौती दी है।

"To get the latest news update download the app"