VIDEO: पूर्व राज्यमंत्री के बगावती तेवर, बीजेपी प्रत्याशी के खिलाफ निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव

गुना। विजय कुमार जोगी।

बमोरी विधानसभा सीट से दावेदारी जता रहे पूर्व राज्यमंत्री केएल अग्रवाल ने मंगलवार को अपने बगावती तेवर बरकरार रखते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचकर नामांकन दाखिल कर दिया। इस मौके पर अपने बड़ी संख्या में मौजूद समर्थकों के साथ अग्रवाल रैली के रूप में शहर में निकले।

जानकारी के मुताबिक नामांकन दाखिल करने के बाद मीडिया से चर्चा के दौरान अग्रवाल ने कहा कि बीजेपी ने जिसे उम्मीदवार बनाया है उनका नाम सर्वे रिपोर्ट में जीरो था। फीडबैक भी टीक नहीं था लेकिन नेताओं के दबाव में उन्हें टिकट दे दिया गया। मैंने अपने समर्थकों के कहने पर सोच विचार करने के बाद ही निर्दलीय लड़ने का फैसला किया है। जो भी परिणाम हो मुझे स्वीकार होंगे। 

अग्रवाल गुना-बमोरी विधानसभा सीट से पूर्व में विधायक चुने गये। बाद में गुना सीट आरक्षित कोटे में चली गई और बमोरी को अलग विधानसभा क्षेत्र का दर्जा मिल गया। इसके बाद अग्रवाल फिर से भाजपा प्रत्याशी के रूप में ही बमोरी से चुनाव लड़े, जीते और राज्यमंत्री भी बने। वर्ष 2013 के चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार के मुकाबले चुनाव हार जाने के बाद वह पांच वर्ष तक नेपथ्य में रहकर राजनीति में सक्रिय बने रहे। इस बार अग्रवाल ने फिर से इसी सीट से अपनी दावेदारी पेश की, परंतु भाजपा हाईकमान ने उन्हें अवसर नहीं दिया और बमोरी से बृजमोहन सिंह आजाद को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया। इस पर अग्रवाल ने बगावती तेवर अख्तियार कर लिया और निर्दलीय रूप से मैदान में उतरने के संकेत भी दिये। मंगलवार को अपरान्ह 1.25 बजे ढोल-ढमाके के साथ अग्रवाल ने चुनाव लडऩे की मंशा जाहिर करते हुए विधिवत फार्म भी भर दिया।