नेता प्रतिपक्ष का हमला, 'ट्रांसफर में लगी है सरकार, उन्हें किसी की चिंता नहीं'

ग्वालियर।  भाजपा नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बाढ़ प्रभावितों और अतिवृष्टि से हुए नुकसान को लेकर कांग्रेस सरकार पर सीधा हमला बोला है | उनका कहना है कमलनाथ सरकार को प्रभावित लोगों की चिंता नहीं है | सरकार केवल ट्रांसफर सूची बनाने में लगी है। यहाँ तक कि नुकसान का आंकलन करने वाले राजस्व अधिकारियों के भी ट्रांसफर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि जहां तक केंद्रीय सरकार की सहायता का सवाल है पहले सरकार नुकसान का आंकलन तो करले। भार्गव ने कहा कि उन्होंने इस गंभीर समस्या पर अविलम्ब सदन की बैठक बुलाने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। भार्गव ने पीएम मोदी के जन्म दिन पर सरदार सरोवर बांध से पानी छोड़ने के कांग्रेस नेताओं के बयान पर कहा कि बर्थ डे मनाना बीजेपी के कल्चर में नही है।

मध्यप्रदेश विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव आज एक दिवसीय दौरे पर ग्वालियर आए। भाजपा नेताओं ने उनका स्वागत किया। मीडिया से बात करते हुए श्री भार्गव ने कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में लोग बाढ़ और अतिवृष्टि से परेशान है इंदौर और उज्जैन संभाग में हालात खराब है । उन्होंने कहा जहां तक गांधी सागर बांध से पानी छोड़ने का सवाल है इस बारे में मेरे से कोई बात नहीं हुई, प्रदेश सरकार के मंत्री जो बयान इस बारे में दे रहे हैं वह गैर जिम्मेदाराना हैं। भार्गव  ने कहा कि  मामला गंभीर है लेकिन प्रदेश सरकार को कोई चिंता नहीं है उसने अभी तक प्रभावितों को लेकर कोई सर्वे नहीं कराया । वह तो ट्रांसफर सूची बनाने में व्यस्त है यहाँ तक कि इस आपदा का आंकलन करने वाले अधिकारियों को भी नहीं छोड़ रही। कलेक्टर से लेकर पटवारी तक को नहीं पता कि कब उसका ट्रांसफर कहाँ हो जाएगा। हमारी मांग मुख्यमंत्री से हैं की वह दो दिन का विशेष सत्र बुलाये और सदन में चर्चा हो  इसके लिए मैंने मुख्यमंत्री जी को पत्र भी लिखा है। लेकिन वह केंद्र से एक हजार करोड़ की राशि मांगने का रोना रो रहे है।

बर्थ डे सेलीब्रेट करना भाजपा के कल्चर में नही

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस पर सरदार सरोवर बांध में पानी छोड़ने से आई प्राकृतिक आपदा के सवाल पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इससे बड़ा जोक कोई नहीं हो सकता । बर्थ डे सेलीब्रेट करना भाजपा के कल्चर में नही है कांग्रेस का होता होगा। भाजपा संगठन और शिवराज सिंह चौहान के अलग अलग तारीख को बाढ़ प्रभावितों को लेकर आंदोलन पर शिवराज का बचाव करते हुए भार्गव बोले कि पार्टी और नेताओं में पूरा समन्वय है । उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में 20 सितम्बर को ही आन्दोलन होगा और यदि इस  आंदोलन से प्रभाव नहीं पड़ा तो 22 को भी प्रभावी कदम उठाने होंगे। यही बात शिवराज सिंह ने कही है जिससे भ्रम की स्थिति बनाई जा रही है।

"To get the latest news update download the app"