पूर्व मंत्री संजय पाठक पर कस सकता है शिकंजा, उर्जा मंत्री ने दिए संकेत

 जबलपुर|  बिजली कटौती से परेशान मध्य प्रदेश के उर्जा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री प्रियवृत सिंह दो दिवसीय दौरे पर जबलपुर पहुंचे| जहां उन्होंने सर्किट हाउस में कांग्रेस नेताओ और जिले के अधिकारियों से मुलाकात की| इसके बाद प्रियवृत सिंह सीधे विद्युत मंडल के मुख्यालय शक्ति भवन जाएगे जहाँ वह बिजली को लेकर प्रदेश की तीनो कंपनियों पूर्व,पश्चिम और मध्य क्षेत्र के अधिकारियो के साथ मैराथन बैठक लेगें| इस दौरान पत्रकारों से अनौपचारिक चर्चा करते हुए प्रियवृत ने कहा कि प्रदेश मे कही भी अघोषित बिजली कटौती नही की जा रही है| ये तो भाजपा की साजिश है जो जानबूझकर बिजली सप्लाई अवरूद्ध कर रही है| बीते दिनो इंदौर और दमोह मे सामने आए मामले इस बात की पुष्टि करते है| वही मध्यप्रदेश मे भाजपा द्वारा पूरे प्रदेश में आज अघोषित बिजली कटौती को लेकर निकाली जा रही चिमनी यात्रा पर कुछ भी कहने से बचते रहे| प्रियवृत सिंह का मानना है कि विपक्ष को विरोध का अधिकार है तो वह कर रहा है| इसके अलावा अवैध उत्खनन को लेकर प्रियवृत सिंह ने कहा कि जबलपुर समेत कटनी जिले मे संचालित सभी खदानो की जांच के निर्देश दे दिए है और जो भी खदान नियम विरूद्ध तरीके से संचालित हो रही होगी| उस पर विधि अनुसार कार्यवाही की जाएगी| 

दरअसल बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री संजय पाठक की खदानो के बारे मे बीते दिनों हुई कार्यवाही की बात जब पूछी गई तो उन्होने इस पर जांच कराने की बात कही| जिससे समझा जा सकता है कि प्रभारी मंत्री द्वारा खदानो की जांच कराने की बात कहीं न कही पूर्व मंत्री और विधायक संजय पाठक पर शिकंजा कसने के जैसा प्रतीत होता है| बहरहाल उर्जा मंत्री सिंह ने 10 प्रतिशत आर्थिक रूप से कमज़ोर सामान्य वर्ग को आरक्षण दिए जाने की वकालत की| उन्होने कहा कि वो इस आरक्षण के पक्ष मे है जिसे सरकार जल्द लागू करेगी।

"To get the latest news update download the app"