MP BOARD RESULT: चौकीदार का बेटा बना टॉपर, किराने की दुकान पर काम कर जुटाई थी फीस

सागर

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा 10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है।नतीजों में सबसे खास बात है कि दोनों में टॉपर भोपाल-इंदौर जैसे बड़े शहरों से नहीं बल्कि छोटे शहरों से निकल कर आये हैं। छोटे शहरों के छात्रों ने सफलता के झंडे गाड़े हैं। 10वीं परीक्षा में सागर जिले के गगन दीक्षित और आयुष्मान ताम्रकार ने टॉप किया। दोनों को 500 में से 499 अंक मिले हैं।गगन जहां किसान के बेटे है वही आयुष्मान ताम्रकार के पिता चौकीदारी का काम करते है। 

दसवीं में टॉप करने वाले आय़ुष्मान ताम्रकार के लिए ये कामयाबी किसी सपने से कम नहीं है। घर की माली हालत ठीक नहीं होने की वजह से आय़ुष्मान कई बार पिता के बदले चौकीदारी करने जाता था। मां का भी काम में हाथ बंटाता था। जहां दूसरे बच्चे लगातार पढ़ाई करते थे। वहीं आयुष्मान को पढ़ाई के लिए वक्त निकालना पड़ता था। ऐसा इसलिए क्योंकि कई बार पिता की गैरमौजूदगी में उसे चौकीदारी करने जाना पड़ता था। इतना ही नहीं जहां दूसरे बच्चे गर्मी की छुट्टियों में घूमने जाते थे। वहीं आयुष्मान इस दौरान किराने की दुकान में काम करके अपनी फीस का इंतजाम करता था। 

ऐसे पढ़ाई करते थे आयुष्मान

बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले आयुष्मान इंजीनियर बनना चाहते हैं ।आयुष्मान से जब पूछा गया कि वह कितनी देर पढ़ाई करते हैंं तो उन्होंने कहा मेरा पढ़ाई करने का कोई समय नहीं है। कभी एक घंटे तो कभी दो घंटे या फिर कभी 4 घंटे। लेकिन जितनी देर भी पढ़ता हूं पूरे ध्यान से पढ़ता हूं। आयुष्मान बताते हैं वह विषयवार पढ़ाई करते हैं पहले एक सब्जेक्ट पढ़ते हैं जब वह खत्म हो जाता है तो दूसरा सब्जेक्ट उठाते हैं। मोहननगर वार्ड की तंग गलियों में रहने वाले आयुष्मान की तीन बहनें हैं। आयुष्मान की दो बहन और एक भाई है। दोनों बहनें डिग्री कॉलेज में पढ़ रही हैं।आयुष्मान अपनी जीत का श्रेय अपने गुरुजनों और मातापिता को देते हैं।

रिजल्ट देख भावुक हुई मां

बेटे की सफलता पर आयुष्मान ताम्रकार की मां भावुक हों गईं। उन्होंने कहा कि सुबह से बच्चे खुश थे कि रिजल्ट आने वाला है पर हमें इस बात की उम्मीद नहीं थी कि इतनी बड़ी खुशी आएंगी। बच्चे की आगे की पढ़ाई और सपने के बारे में उन्होंने कहा कि हम अपने बच्चे को बेहतर शिक्षा देना चाहते हैं पर हमारे घर में बहुत परेशानियां हैं। पति की तबियत ठीक नहीं रहती है और उनकी भा दवा चल रही है आगे की पढ़ाई कैसे होगी मुझे नहीं मालूम।

सागर के टॉपरों में ये छात्र भी शामिल

टॉपर्स की लिस्ट में पहले पांच छात्र सागर जिले के ही हैं। सागर के गोरझामर के सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल के छात्र गगन दीक्षित ने दसवीं में टॉप किया है, उन्होंने पांच सौ में से कुल 499 अंक हासिल किए हैं। वहीं टॉप लिस्ट में दूसरे नंबर पर सागर के ही आयुष्मान ताम्रकर का नाम है, उन्होंने भी 500 में से 499 अंक हासिल किए हैं, जो संयुक्त रूप से मेरिट लिस्ट में पहले नंबर पर हैं| सागर के ही दीपेंद्र अहिरवार दूसरे नंबर रहे, उन्हें परीक्षा में तीसरा नंबर हासिल कर 500 में से 497 अंक प्राप्त किए हैं| मेरिट लिस्ट में 6 छात्र संयुक्त रुप से तीसरे स्थान पर हैं।


"To get the latest news update download the app"