नगर निगम की महिला कर्मचारी को बंधक बनाकर एक महीने तक किया रेप

भोपाल। नगर निगम के अतिक्रमण दस्ते में पदस्थ एक महिला कर्मचारी मकान की तलाश कर रही थी। कोतवाली थाना क्षेत्र में इस दौरान उसकी मुलाकात शुक्रवार की शाम एक पूर्व परिचित से हुई। आरोपी ने पीडि़ता को अंबेडकर नगर में सस्ता मकान दिलाने का झांसा दिया। इसके बाद में बदमाश एक्टिवा से फरियादिया को अंबेडकर नगर स्थित अपने मकान में ले गया। इस दौरान विवाहिता के साथ में उसके दो बच्चे भी मौजूद थे। आरोपी ने पीडि़ता को वहां बंधक बना लिया। बच्चों की हत्या की धमकी देकर मां के साथ में ज्यादती की। आरोपी फरियादिया व उसके बच्चों को एक कमरे में बंद रखता था। एक महीने में कई बार उसने महिला के साथ में रेप किया। किसी तरह से बीते शुक्रवार को महिला आरोपी के चुंगल से छूटकर भागने में कामयाब हुई। इसके बाद में बैरसिया स्थित बहन के घर पहुंची और घटनाक्रम बताया। जहां से दोनों बहने बैरसिया थाने पहुंची और प्रकरण दर्ज कराया। वहां पुलिस ने शून्य पर कायमी कर कल केस डायरी को कोतवाली पुलिस के पास भेज दिया है। आरोपी की गिरफ्तारी अभी नहीं हो सकी है।

कोतलवाली पुलिस के अनुसार 27 वर्षीय पीडि़ता कोतवाली क्षेत्र में स्थित एक किराए के मकान में रह रही है। वह नगर निगम के अतिक्रमण दस्ते में पदस्थ है। पिछले दिनों उसे मकान शिफ्ट करना था। नया मकान वह कोतवाली इलाके के कुम्हारपुरा में तलाश रही थी। वहां मकान तलाशने के दौरान पिछले महीने 12 मार्च को पूर्व परिचित श्यामलाल मैना मिल गया। मैना ने मकान तलाशने में उसकी मदद का झांसा दिया। इकसे बाद में अंबेडकर नगर में सस्ता मकान दिलाने की बात कही। आरोपी की बातों में आने के बाद में महिला वहां का मकान देखने के लिए तैयार हो गई। आरोपी एक्टिवा से महिला और उसके दोनों बच्चों को लेकर अपने अबेंडकर नगर स्थित मकान लेकर पहुंचा। वहां चाय व नाश्ता दिया, इसके बाद में अपने मकान का मेन गेट लगा लिया। शोर मचाने पर महिला को उसके बच्चों की हत्या की धमकी। फिर बंधक बनाकर महिला के साथ में दुराचार किया। बाद में महिला और उसके बच्चों को उक्त मकान में बंधक बनाकर रखने लगा। आए दिन पीडि़ता के साथ में रेप करने लगा। घर से निकलने के दौरान बदमाश घर को बाहर से लॉक करके जाया करता था। बीते शुक्रवार को पीडि़ता किसी तरह से आरोपी चुंगल से भाग निकली। बस से दोनों बच्चों को लेकर बैरसिया में रहने वाली अपनी बहन के घर पहुंची। जहां बहन को पूरा घटनाक्रम बताने के बाद में उसके साथ ही बैरसिया थाने गई। वहां आरोपी के खिलाफ शून्य पर प्रकरण दर्ज कराया। केस डायरी मिलने के बाद में कोतवाली पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं।

"To get the latest news update download the app"