बुआ के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया, रोचक होगा मुकाबला

शिवपुरी। मध्यप्रदेश की सियासत में दो दलों में बंटा सिंधिया परिवार आमने सामने होगा। कैबिनेट मंत्री एवं शिवपुरी विधानसभा सीट से चौथी बार बीजेपी ने उम्मीदवार बनाया है। इस बार प्रदेश के चुनाव में कहीं चाचा भातीजे आमने सामने हैं तो कहीं बुआ भतीजे। कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्या सिंधिया अपनी बुआ के खलिाफ प्रचार करते नजर आएंगे। 

कांग्रेस ने इस बार शिवपुरी की तीन विधानसभा सीटों पर नए चोहरों को चुनावी रण में उतारा है। जिनमें शिवपुरी, करेरा और पोहरी विधानसभआ क्षेत्र शामिल है। कांग्रेस ने बीजेपी की कद्दावर नेता और कबिना मंत्री यशोधर के खिलाफ युवा चेहरे पर दांव लगाया है। शिवपुरी सीट से सिद्धार्थ लढा को कांग्रेस ने प्रत्याशी घोषित किया है। वह पांच साल पहले ही राजनीति में सक्रिय हुए हैं और उनकी उम्र भी 36 वर्ष है। जबकि, यशोधरा शिवरपुरी सीट से तीन बार से लगातार विधायक हैं। यहां उनके वर्चस्व है। यह देखना बेहद रोचक होगा क्या कांग्रेस का यह युवा उम्मीदवार दिग्गज को हराकर इतिहास रच पाएगा। 

यशोधरा के राजनीतिक अनुभव के आगे सिद्धार्थ बहुत बोने हैं। इसलिए उनको टक्कर देने चुनावी मैदान की कमान सिंधिया संभालेंगे और अपनी बुआ के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे। लेकिन वह अपनी बुआ के खिलाफ कितने सक्रिय होते हैं, यह चर्चा का विषय बना हुआ है। लोगों का कहना है कि सिंधिया की सक्रियता के कारण ही इस क्षेत्र से कांग्रेस मजबूत होगी। जबकि भाजपा प्रत्याशी श्रीमती सिंधिया ने काफी पहले से इस विधानसभा क्षेत्र में अपना जनसंपर्क शुरू कर दिया है तथा अपने पिछले कार्यकाल के दौरान शिवपुरी विधानसभा क्षेत्र में एवं शहर में कराए गए विकास कार्यों के साथ ही भविष्य की योजनाओं को पूरा करने को लेकर जनता के बीच जा रही हैं।