होटल मालिक चला रहा था देह व्यापार का अड्डा, तीन युवतियों सहित 8 गिरफ्तार

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक बार फिर देह व्यापार के अड्डे का खुलासा हुआ है| दीनदयाल नगर में सम्राट गेस्ट हाउस में संचालित देह व्यापार के अड्डे का खुलासा करने के बाद पुलिस ने अब मंगलवार को रेसकोर्स रोड पर संचालित एक होटल पर छापा मारकर देह व्यापार के अड्डे का खुलासा किया है।

पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन को रेसकोर्स रोड पर पेट्रोल पम्प के पास स्थित नीरज होटल में अनैतिक गतिविधियों की शिकायत मिली थी। सूचना के बाद एसपी ने सीएसपी रवि भदौरिया और पड़ाव थाना प्रभारी  अनिल भदौरिया को कार्रवाई के लिए निर्देश दिए। पुलिस ने एक सिपाही को ग्राहक बनाकर भेजा और अन्दर से सिग्नल मिलते ही टीम ने होटल पर छापा मार दिया। पुलिस को देखते ही वहां मौजूद युवकों ने भागने की कोशिश की लेकिन वे भाग नहीं पाए। पुलिस को जांच में यहाँ तीन जोड़े संदिग्ध अवस्था में मिले। पुलिस को यहाँ आपत्तिजनक वस्तुएं भी मिली। पुलिस ने होटल मालिक सोनू माहौर, मैनेजर कृष्णकांत वर्मा, के अलावा ग्राहक गुलशन जौहरी, सुधांशु राठौर, मोनू कदम और तीन युवतियों को गिरफ्तार कर लिया।

दो दिन पहले सम्राट गेस्ट हाउस में पकड़ाया सेक्स रैकेट 

इससे पहले रविवार को पुलिस ने दीनदयाल नगर में सम्राट गेस्ट हाउस पर छापा मार कर देह व्यापार के अड्डे का खुलासा किया था|  पुलिस को बहुत दिन से क्षेत्र में संचालित सम्राट गेस्ट हाउस में अनैतिक काम चल रहा है। पुलिस ने गेस्ट हाउस पर निगाह रखी और दबिश देकर इसका खुलासा किया। पुलिस ने यहां से तीन युवतियोँ और चार युवकों को पकड़ा । इसके बाद सोमवार को पुलिस ने पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी भाजपा नेता है और मुरैना जिले की अम्बाह जनपद पंचायत का सदस्य ब्रजेश तोमर है। पुलिस आरोपी से इसके नेटवर्क के बारे में पूछ ताछ कर रही है। ब्रजेश ने करीब सवा साल पहले 11 फरवरी 2018 को ये गेस्ट हाउस खोला था। गेस्ट हाउस का किराया 70 हजार रुपये महीना था। कुछ दिनों बाद ही उसने यहाँ देह व्यापार शुरू करवा दिया। गेस्ट हाउस की जिम्मेदारी शैलू तोमर और श्यामू तोमर को दे दी। वे ही ग्राहकों को लड़कियां उपलब्ध कराते थे। ये लोग फेसबुक और व्हाट्सएप से लड़कियों के फोटो पसंद करवाकर लोगों को उपलब्ध कराते थे। पुलिस ने दीनदयाल नगर के सेक्टर AB  मकान नंबर 13 में संचालित सम्राट गेस्ट हाउस पर जब छापा मारा था तब उसे 3 युवतियां और चार युवक मिले थे जिनमें श्यामू और शैलू भी शामिल थे लेकिन ब्रजेश तब वहां नहीं था। पुलिस ने पता किया कि ब्रजेश मुरैना के भिडौसा का रहने वाला है। पुलिस ने दबिश देकर उसे भी गिरफ्तार कर लिया। 

"To get the latest news update download the app"