वनकर्मियों की हड़ताल का 12वां दिन, मंडला में भी मुंडन करवाकर जताया विरोध

मंडला।

प्रदेश में वनकर्मियों की हड़ताल का आज 12 वां दिन है। हड़ताल का असर धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। अशोकनगर और इंदौर के बाद अब मंडला में वनकर्मियों ने सिर मुंडवाकर अपना विरोध व्यक्त किया है। वनकर्मी लगातार अपनी मांगों पर अड़े हुए है, लेकिन शासन -प्रशासन की तरफ से कोई आश्वासन नही मिला है। वही 

हड़ताल के चलते वन विभाग का काम ठप्प पड़ गया है, शासन द्वारा पुलिस के कई अधिकारियों को जिम्मेदारी देकर काम चलाया जा रहा है। वनकर्मियों ने मांगे पूरी ना होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

दरअसल, बीते माह की 4 तारीख को मध्यप्रदेश वन कर्मचारी संघ भोपाल के प्रतिनिधिमंडल के साथ वन मंत्री गौरीशंकर शेजवार ने लिखित समझौता किया था I इस दौरान उन्होंने वेतन विसंगतियों को दूर करने सहित कर्मचारियों को कुछ अधिकार देने तथा सेवा शर्तों की मांग मांगने की बात कही थी।लेकिन महिना बीते जाने के बावजूद आज तक मांगों पर कोई ध्यान नही दिया गया।जिसको लेकर वनकर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल और क्रमिक भूख हड़ताल  शुरु कर दी है।

लेकिन सरकार के रवैया से नाराज होकर कर्मचारियों ने मुंडन करवाकर अपना विरोध दर्ज किया। वनकर्मियों ने सरकार पर  वादाखिलाफी का आरोप भी लगाया है। इसके पहले  रविवार को असंगठित मजदूर एवं तेंदूपत्ता संग्राहक सम्मलेन कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे सीएम शिवराज का मंडला के अंजनिया गांव में वन कर्मचारियों ने बहिष्कार किया था और मांगें पूरी नहीं होने तक हड़ताल जारी रखने की बात कही थी।