अवैध रेत उत्खनन में लिप्त व्यक्तियों के शस्त्र लाइसेंस होंगे निरस्त

मुरैना

हाल ही में गुरुवार को  मध्‍य प्रदेश के मुरैना में अवैध रेत भरकर भाग रहे तेज रफ्तार ट्रैक्‍टर ट्राली ने आगे जा रही जीप में जोरदार टक्‍कर मार दी थी, जिसमें 15  लोगों की ही मौत गई थी और करीब आठ लोग घायल हो गए थे। घटना के बाद विपक्ष ने सरकार को अवैध उत्खनन को लेकर जमकर घेरा था और शासन-प्रशासन पर आऱोप लगाए थे। इस घटना के बाद आनन-फानन में कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों द्वारा जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कहा गया कि थाना सराय छौला के अंतर्गत अवैध रेत उत्खनन में लिप्त व्यक्तियों के शस्त्र लायसेंस निरस्त किये जायेंगे। इसके साथ ही सभी वन मण्डलाधिकारियों को निर्देश दिए कि अवैध रेत उत्खनन में लिप्त व्यक्तियों की सूची पुलिस अधीक्षकों को भेजी जाए, ताकि वे ऐसे शस्त्र लायसेंसधारियों के लायसेंस की निरस्ती की कार्यवाही कर सके। 

      बैठक में ये भी कहा गया कि उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार एन.एस. पर वन विभाग द्वारा पहले से स्थापित चौकियों पर बने रेम्बल ब्रोकरों को वन विभाग और पुलिस के अधिकारी मौके पर देखकर कार्यवाही करें। अगर रेम्बल ब्रोकर नही है तो ब्रोकर बनवाये जाये। रेत के अवैध परिवहन को सख्ती से रोकने और प्रभावी कार्यवाही करने के उद्देश्य से टोल टेक्स नाके पर 25 पुलिस कर्मियों को स्थाई रूप से लगाने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में पुलिस अधीक्षक अमित सांघी वन मण्डलाधिकारी अब्दुल अलीम अंसारी, आयुक्त नगरनिगम डी.एस. परिहार, क्षेत्रीय परिवहन, खनिज अधिकारी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व वन सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कलेक्टर भरत यादव ने जारी किए निर्देश-

-खनिज के परिवहन कर्ता वाहनों की नियमित जांच की जाए ।

-ऐसे वाहन जो लगातार 5 वार अवैध उत्खनन परिवहन करते पकडे जाये उनके विरूद्ध खनिज अधिकारी खनिज नियमों के तहत वाहन राजसात करने की कार्यवाही करें।

-शहर के वाहर शिकारपुर से टोल छौंदा की ओर जाने वाली रोड पर अवैध रेत के वाहनों को रोकने की दृष्टि से नगरनिगम द्वारा स्पीड ब्रोकर लगाये जाये।

-पीएमजी एस वाय की रोडो पर ओवर लोड वाहनों के विरूद्ध भी कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

- ऐसे रोडो की सूची खनिज अधिकारी एसडीएम को उपलब्ध करायेंगे।

-ट्रेक्टरों पर पुलिस के सहयोग से नम्बर अंकित कराने के भी निर्देश दिए गए।

- यह कार्यवाही क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी द्वारा की जायेगी।