फलदान समारोह के दौरान दुल्हन के मौसेरा भाई ने की हर्ष फायरिंग, दूल्हे के फूफा की मौत

मुरैना।

मध्यप्रदेश में फिर एक बार फिर शादी की खुशियां मातम में बदल गयी जब फलदान समारोह के दौरान हुए हर्ष फायर में दुल्हे के फूफा की मौत हो गई।घटना के बाद अफरा-तफरी का माहौल मच गया।सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और हर्ष फायर करने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि आरोपी युवक दुल्हन का मौसेरा भाई है और उसने देशी कट्टे से फायर किया था।घटना सिविल लाइन थाना इलाके में स्थित गुलाब गार्डन  की है।

जानकारी के अनुसार, महाराज पुरा स्थित गुलाब गार्डन में शनिवार की रात रामकृष्ण तोमर के बेटे अंकित के लिए धौलपुर के बरेह मोरी निवासी रामप्रकाश सिंह परमार अपनी बेटी का फलदान लेकर आए थे। फलदान समारोह खत्म होते ही स्टेज के आसपास खड़े लोग हर्ष फायर करने लगे। इसी दौरान एक गोली नजदीक बैठे दूल्हे के फूफा व गलेथा निवासी पूर्व जनपद सदस्य कुंअर सिंह सिकरवार की कनपटी में जा लगी। तत्काल उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी युवक से 315 बोर का देशी कट्टा बरामद किया है। पुलिस ने आरोपी युवक से पूछताछ कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

पुलिस पूछताछ में युवक ने बताया है कि उसने जान-बूझकर कुंअर सिंह को सीधी गोली मारी थी, क्योंकि बालकराम अपनी मौसेरी बहन का संबंध किसी दूसरी जगह कराना चाहता था, लेकिन मृतक पूर्व जनपद सदस्य ने इस संबंध को मुरैना में कराने पर अड़े थे। बताया जा रहा है कि इसी बात से नाखुश होकर आरोपी ने हत्या की इस वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है।

गौरतलब है कि चंबल में हर्ष फायर से मौत का यह पहला मौका नहीं है। शादियों के सीजन में इस तरह की घटनाएं आए दिन होती रहती है।अभी 23 जनवरी 2018 को अंबाह के कृष्णा मैरिज गार्डन आयोजित शादी समारोह के दौरान हर्ष फायर में लड़की पक्ष के नाना की गोली लगने से मौत हो गई थी। 21 जनवरी 2018 को अंबाह के बरेह गांव में हर्ष फायर के दौरान दूल्हे व पंडित भी गोली लगने से घायल हुए थे। वही 4 फरवरी को पोरसा स्थित रामनगर इलाके हर्ष फायर में सतीश तोमर, लालसिंह तोमर, सानू तोमर गोली लगने से घायल हो गए, वहीं राहुल तोमर की मौत हो गई थी।हैरानी की बात तो ये है कि हर्ष फायरिंग में सैंकड़ों मौते होने के बाद भी पुलिस और प्रशासन अब तक घटनाओं पर ठोस कार्रवाई नहीं कर सका है।


"To get the latest news update download tha app"