ग्रामीण बोला- मै नल का अवतार.... खेत में गड़ा है खजाना

मुरैना।

मुरैना के पोरसा ब्लॉक में छोटापुरा  गांव के रहने वाले एक  व्यक्ति ने दावा किया है कि वह राजा नल का छठा अवतार है। महाभारत युग में प्रसिद्ध हुए राजा नल का खुद को अवतार मन्नत बताने वाला यह किसान यह भी कह रहा है  कि उसके खेत में खजाना गड़ा हुआ है और इसे निकालने के लिए उस ने बाकायदा एक कंपनी को ठेका दिया है। दिल्ली की इस कंपनी ने अब सरकार को पत्र लिखकर खेत में गड़े खजाने को निकालने की अनुमति मांगी है। 2006 में भी यह  व्यक्ति खजाना होने का दावा कर चुका है लेकिन उस समय संसाधनों की कमी के कारण खुदाई अधूरी रह गई थी। अब दिल्ली की मुकेश एंड कंपनी इस काम को अंजाम दे रही है और उसने  सरकार से अनुरोध किया है कि उन्हें 20 जून से पहले खुदाई की अनुमति मिल जाए ताकि बारिश के पहले वे काम कर पाए ।भारतीय ट्रेजर एक्ट 1878 के प्रावधानों के तहत खजाना मिलने पर 40 फ़ीसदी सरकार को ,30 फ़ीसदी विद्याराम को और 30 फ़ीसदी खुद कंपनी के पास रखने का प्रस्ताव भी दिया है।