Breaking News
विधानसभा का आखिरी सत्र कल से, 5 दिवसीय सत्र में पूछे जाएंगे 1376 सवाल | मानसून सत्र: सरकार को घेरने विपक्ष की रणनीति तैयार, PCC चीफ बोले- 5 साल का हिसाब मांगेंगे | ग्रामीण से रिश्वत लेते रोजगार सहायक कैमरे में कैद, वीडियो हुआ वायरल | जब आदिवासियों संग मांदल की थाप पर थिरके शिवराज, देखें वीडियो | MP : कांग्रेस में 3 नई समितियों का गठन, चुनाव घोषणा पत्र में कर्मचारी नेता को मिली जगह | BIG SCAM : PNB के बाद एक और बैंक में घोटाला, तीन अधिकारी सस्पेंड | IPS ने बताया डंडे के फंडे से कैसे होगा पुलिसवालों का TENSION दूर! | कपड़े दिलाने के बहाने किया मासूम को अगवा, बेचने से पहले पुलिस ने रंगेहाथों पकड़ा | इग्लैंड में अपना जलवा दिखाने पहुंचे 4 भारतीय दिव्यांग तैराक, इंग्लिश चैनल को करेंगें पार | VIDEO : केरवा कोठी पर भाजपा महिला मोर्चा का प्रदर्शन |

मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव पर लगे रिश्वत मांगने के आरोप, मचा बवाल

लखनऊ।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रधान सचिव एसपी गोयल पर 25 लाख रुपये की घूस मांगने का आरोप लगा है।आरोप अभिषेक गुप्ता नाम के शख्स ने लगाए है। हालांकि पुलिस ने शक के चलते शिकायतकर्ता को ही हिरासत में ले लिया है।  इस गंभीर आरोप पर राज्यपाल राम नाईक ने कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। मुख्यमंत्री योगी ने इस मामले में राज्य के प्रमुख सचिव को जांच के आदेश दे दिए हैं। घटना के बाद से ही हड़कंप मच गया है। विपक्ष इसे मुद्दा बनाकर हमला कर रहा है।

 वही समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री सचिवालय में भ्रष्टाचार को बेहद दुखद बताया है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री शशि प्रकाश गोयल के 25 लाख रुपया रिश्वत मांगने के मामले की सीबीआइ से जांच कराने की मांग की है।

दरअसल ये शिकायत एक शख्स ने मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव एसपी गोयल के खिलाफ राज्यपाल राम नाईक से की थी। आरोप है कि पेट्रोल पंप के मुख्य मार्ग की चौड़ाई बढ़ाए जाने को लेकर प्रमुख सचिव 25 लाख रुपए की घूस मांग रहे थे। इस गंभीर आरोप पर राज्यपाल ने कार्रवाई के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजा था।मामले पर विवाद बढ़ते सीएम योगी ने मुख्य सचिव राजीव कुमार को अभिषेक गुप्ता के हरदोई स्थित पेट्रोल पंप की स्थापना संबंधी मामले की तथ्यात्मक जांच कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं।

बताया जा रहा है कि  लखनऊ के रहने वाले अभिषेक गुप्ता पर गुरुवार की रात को हजरतगंज थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर किया गया है। राज्यपाल राम नाईक द्वारा सीएम योगी को 30 अप्रैल को ये पत्र भेजा गया है।  इसमें राज्यपाल की तरफ से कहा गया है कि लखनऊ के इंदिरानगर में रहने वाले अभिषेक गुप्ता ने 18 अप्रैल को ईमेल भेजकर बताया कि उनके द्वारा हरदोई के संडीला में रैसो गांव में एस्सार आॅयल लिमिटेड द्वारा स्वीकृत पेट्रोल पंप लगाया जाना है। वही अभिषेक ने बताया कि पेट्रोल पंप के लिए उसने एक करोड़ रुपये का लोन ले रखा है। पेट्रोल पंप के निर्माण पर अभी तक करीब 25 लाख रुपये भी खर्च हो चुके हैं। अभिषेक ने आरोप लगाया कि प्रमुख सचिव एसपी. गोयल द्वारा उन्हें परेशान किया जा रहा है। अभिषेक का कहना है कि अगर उनके साथ न्याय नहीं हुआ, तो वह आत्मदाह कर लेंगे।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...