Breaking News
विधानसभा का आखिरी सत्र कल से, 5 दिवसीय सत्र में पूछे जाएंगे 1376 सवाल | मानसून सत्र: सरकार को घेरने विपक्ष की रणनीति तैयार, PCC चीफ बोले- 5 साल का हिसाब मांगेंगे | ग्रामीण से रिश्वत लेते रोजगार सहायक कैमरे में कैद, वीडियो हुआ वायरल | जब आदिवासियों संग मांदल की थाप पर थिरके शिवराज, देखें वीडियो | MP : कांग्रेस में 3 नई समितियों का गठन, चुनाव घोषणा पत्र में कर्मचारी नेता को मिली जगह | BIG SCAM : PNB के बाद एक और बैंक में घोटाला, तीन अधिकारी सस्पेंड | IPS ने बताया डंडे के फंडे से कैसे होगा पुलिसवालों का TENSION दूर! | कपड़े दिलाने के बहाने किया मासूम को अगवा, बेचने से पहले पुलिस ने रंगेहाथों पकड़ा | इग्लैंड में अपना जलवा दिखाने पहुंचे 4 भारतीय दिव्यांग तैराक, इंग्लिश चैनल को करेंगें पार | VIDEO : केरवा कोठी पर भाजपा महिला मोर्चा का प्रदर्शन |

UPSC की परीक्षा में 4 मिनट देरी से पहुंचा, नहीं मिली एंट्री, छात्र ने दे दी जान

नई दिल्ली| संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) परीक्षा की तैयारी कर रहे एक परीक्षार्थी ने रविवार को पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली है।  एग्जाम सेंटर पर देर से पहुंचने के कारण उसे एंट्री नहीं दी गई। यह उसका आखिरी मौका था। इसी कारण हताश होकर उसने घर पहुंचकर आत्महत्या कर ली| वरुण सुभाष चंद्रन नाम का यह छात्र मूल रूप से कर्नाटक के कुमाता शहर से था और पिछले कुछ सालों से दिल्ली के राजिंदर नगर में रह रहा था। उनके पिता एक सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारी हैं। उसके कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें वरुण ने अपनी मौत के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया है।

दरअसल, रविवार को यूपीएससी की प्रीलिम परीक्षा थी, जिसमें वरुण चंद मिनटों की देरी से पहुंचा था। पुलिस को एक पेज का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने केंद्र पर देरी से पहुंचने की बात कर माता-पिता से उसे भूलने की बात लिखी है। पुलिस ने सोमवार को पोस्टमार्टम के बाद वरुण का शव परिजनों को सौंप दिया है। परिवार शव लेकर कर्नाटक रवाना हो गया। राजेंद्र नगर थाना पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। साथ ही उसके दोस्तों से पूछताछ और परीक्षा केंद्र पर भी जांच की जा रही है।  वरुण के माता-पिता व परिवार के बाकी सदस्य कर्नाटक में रहते हैं। परिवार में पिता एम.डी सुभाष चंद्रन, मां पदमजा, एक बहन व जीजा हैं। पिता सरकारी विभाग में वैज्ञानिक थे। फिलहाल वह रिटायर हैं। धरवाड़ से इंजीनियरिंग करने के बाद वरुण यूपीएससी की तैयारी करने दिल्ली आ गया था। फिलहाल वह राजेंद्र नगर स्थित एक कोचिंग सेंटर से पढ़ाई कर रहा था। 

वरुण ने कमरे में एक सुसाइड नोट छोड़ा है| जिसमे उसने लिखा है ‘मैं सुबह 8.45 बजे एग्जाम देने के लिए पहाड़गंज स्थित गलत सेंटर पर पहुंच गया था। गलती का एहसास होने के बाद जब अपने सेंटर पर पहुंचा, तब तक सुबह के 9.24 बज चुके थे। देर से पहुंचने के कारण एग्जाम नहीं देने दिया गया। नियम तो नियम हैं, लेकिन अच्छे काम के लिए उसमें थोड़ी ढील की गुंजाइश होनी चाहिए। मेरी मौत के लिए कोई भी जिम्मेदार नहीं है। यह कदम उठाने के लिए मैं माता-पिता और परिजनों से माफी मांगता हूं। उम्मीद करता हूं कि वे जितनी जल्दी इसे भूल जाएं।’  वरुण ने देर से पहुँचने पर एग्जाम देने के लिए कई मिन्नतें भी की, लेकिन किसी ने एक नहीं सुनी। इस बात से वरुण ने हताश होकर फांसी लगा ली।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...