हार्दिक, जिग्नेश, अल्पेश के खिलाफ एफआईआर, महिला के घर में जबरन घुसने का आरोप

अहमदाबाद| पाटीदार अरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल, गुजरात के विधायक अल्पेश ठाकोर व जिग्नेश मेवाणी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है| तीनों पर आरोप है कि इन्‍होंने जनता रेड के नाम पर जबरन एक घर में घुसकर वहां मौजूद लोगों को धमकी दी| धमकी के बाद से वहां मौजूद लोगों काफी दहशत का माहौल है| गांधीनगर निवासी कंचनबेन मकवाना की शिकायत पर हार्दिक, अल्पेश और जिग्नेश समेत 20 से अधिक लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। 

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस विधायक ठाकोर ने निर्दलीय विधायक मेवाणी तथा पटेल एवं एक दर्जन से अधिक समर्थकों के साथ गुरूवार को एक महिला कंचनबेन मकवाना के घर पर छापेमारी की और दावा किया कि वे वहां से संचालित कथित शराब अड्डे  का भंडाफोड़ करना चाहते थे।  शिकायत में कहा गया है कि तीनों अपने समर्थकों के साथ महिला के घर में ऐसे समय में घुसे जब वहां कोई पुरुष सदस्य नहीं था। कंचनबेन ने गांधीनगर पुलिस को एक शिकायत देते हुए कहा है कि तीनों नेताओं ने गलत तरीके से उनके घर में घुसकर उनपर शराब बेचने का आरोप लगाया है, जबकि जिस शराब को उनके घर से बरामद हुआ बताया जा रहा है वह एक अन्य व्यक्ति ने छापेमारी से कुछ देर पहले ही उनके घर पर पहुंचाई थी।  पुलिस ने महिला की शिकायत पर तीनों नेताओं समेत कुल 20 लोगों के खिलाफ अशांति फैलाने और गलत सबूत इकट्ठा करने के आरोप में केस दर्ज किया है। यह घर गांधीनगर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के नजदीक स्थित है। मकवाना ने गांधीनगर सेक्टर 21 थाने में शिकायत दर्ज कराई है। 

धरने पर बैठे 

अपने ऊपर एफआईआर के खिलाफ पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, विधायक जिग्नेश मेवाणी और कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकुर के साथ गाधीनगर पुलिस अधीक्षक के ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए हैं।   कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकुर का कहना है कि हार्दिक के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराने वाली महिला और उसके परिवार की आपराधिक पृष्ठभूमि है। और वह काफी समय से शराब के कारोबार में लिप्त है।