पहली कक्षा की छात्रा की मौत पर हंगामा, टीचर की पिटाई के बाद मौत का आरोप

रायसेन|| जिले के गैरतगंज तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम सर्रा में पांच वर्षीय बच्ची की मौत के मामले में शा. प्राथमिक शाला लालघाटी (सर्रा) में शिक्षिका पर गंभीर आरोप लगे हैं| परिजनों का आरोप है कि स्कूल में बच्ची को टीचर ने डंडे से बच्ची को पीटा जिससे उसकी मौत हो गई| हालांकि शिक्षिका ने सभी आरोपों से इंकार किया है| 

 जानकारी के मुताबिक प्राथमिक शाला सर्रा में पहली कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा प्रीना अहिरवार 5 वर्ष को स्कूल की शिक्षिका जयंती साहू द्वारा किसी बात पर से पिटाई करने का आरोप परिजनों ने लगाये। परिजनों का आरोप था कि शिक्षिका ने छात्रा को पीटा, जिससे उसकी मौत हो गई। परिजनों की शिकायत पर गैरतगंज पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेकर पहले छात्रा का गैरतगंज अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया। बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट की प्रारंभिक जांच का बारीकी से निरीक्षण किया। जिसमें छात्रा की मौत किसी प्रकार की चोट से होना नही पाया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि छात्रा पहले से मलेरिया सहित अन्य बीमारियों की चपेट में थी। वही छात्रा के शरीर मे किडनी ओर हार्ड पर सूजन भी पाई गई। घटना वाले दिन भी छात्रा को तेज बुखार था। इन कारणों का खुलासा होने के बाद क्षेत्रभर में हलचल मचाने वाला यह मामला ठंडा बमुश्किल ठंडा हुआ। हालांकि मृतक छात्रा के परिजन इस मामले में अंतरिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने तक का इंतज़ार करने एवं अन्य बिन्दुओ पर बारीकी से जांच करने की बात कर रहे है। 


यह थे परिजनों के आरोप

परिजनों ने आरोप लगाए थे कि शिक्षिका ने छात्रा की डंडे से पिटाई की जिसमें छात्रा को सर सहित शरीर के अन्य अंगों में गभीर चोटें आई। घटना के बाद छात्रा घर पहुंची तथा अपनी माँ को पूरा घटनाक्रम बताकर सर में दर्द होने की बात कहने लगी। उसी दिन शाम करीब 5 बजे छात्रा अचानक बेहोश हो गई। बाद में परिजनों ने गैरतगंज अस्पताल में इलाज कराया जहाँ से छात्रा को गंभीर अवस्था मे रायसेन ले जाया गया। जहाँ रात्रि करीव 3 बजे छात्रा की मौत हो गई।  थाना प्रभारी संजय पाठक ने बताया कि मामले में शिक्षिका से पूछताछ की जा रही है। वही अन्य बिन्दुओ पर भी बारीकी से जांच कर रहे है।