जिला निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव तैयारियों एवं आचार संहिता की दी जानकारी

रायसेन। विधानसभा चुनाव-2018 को दृष्टिगत रखते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित कर आदर्ष आचार संहिता तथा पेड न्यूज के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग के दिषा-निर्देषों एवं विभिन्न अधिनियमों की विस्तार से जानकारी दी। साथ ही चारों विधानसभा क्षेत्रों में मतदान केन्द्रों की संख्या, मतदाताओं की संख्या तथा चुनाव कार्य में नियुक्त अधिकारियों, कर्मचारियों के संबंध में भी जानकारी दी गई। 

कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवारों, राजनैतिक पार्टियों एवं अन्य व्यक्तियों द्वारा उपयोग में लाए जा रहे विविध साधनों, माध्यमों तथा खर्च आदि के लिए निर्धारित सीमाओं, अनुमतियों एवं व्यय आदि के लिए आदर्श आचार सहिंता एवं अन्य अधिनियमों में वर्णित प्रावधानों तथा उनके उल्लंघन पर की जाने वाली कार्रवाई के संबंध में विस्तार से अवगत कराया गया।

बैठक में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव के दौरान ऑनलाईन षिकायत दर्ज कराने के लिए बनाए गए मोबाईल एप बटप्ळप्स् के माध्यम से षिकायत दर्ज कराने के संबंध में पीपीटी के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी गई। साथ ही राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों के मोबाईल पर यह मोबाईल एप इंस्टॉल कराया गया। बैठक में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नारायण सिंह ठाकुर, भारतीय कम्यूनिष्ट पार्टी के केजी श्रीवास्तव, बहुजन समाज पार्टी के देवी सिंह चौधरी तथा पर्वत सिंह, डिप्टी कलेक्टर संजय उपाध्याय, श्रीमती मोहिनी शर्मा, प्रियंका मिमरोट, जिला सूचना अधिकारी एके भटनागर सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे।

मतदान केन्द्रों की संख्या

जिला निर्वाचन अधिकारी एस प्रिया मिश्रा ने बताया कि जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 1206 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। जिनमें विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-140 उदयपुरा में 308 मतदान केन्द्र, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-141 भोजपुर में 299 मतदान केन्द्र, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-142 सांची में 326 मतदान केन्द्र तथा विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-143 सिलवानी में 273 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। 

मतदाताओं की संख्या

जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने जिले में मतदाताओं की संख्या के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मतदाता सूची के अनुसार जिले में कुल 874883 मतदाता हैं, जिनमें 404747 पुरूष मतदाता, 470109 महिला मतदाता तथा 27 अन्य मतदाता शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र उदयपुरा में कुल 224551 मतदाता हैं जिनमें 103540 पुरूष मतदाता, 121003 महिला मतदाता तथा आठ अन्य मतदाता शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र भोजपुर में कुल 222344 मतदाता हैं जिनमें 102542 पुरूष मतदाता, 119795 महिला मतदाता तथा सात अन्य मतदाता शामिल हैं। 

इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र सांची में कुल 231127 मतदाता हैं जिनमें 106992 पुरूष मतदाता, 124126 महिला मतदाता एवं नौ अन्य मतदाता शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र सिलवानी के तहत कुल 196861 मतदाता हैं जिनमें 91673 पुरूष मतदाता, 105185 महिला मतदाता एवं तीन अन्य मतदाता शामिल हैं। उन्होंने बताया कि मतदाता सूची में जिन मतदाताओं के नाम छूटे हैं अथवा नवीन मतदाताओं के फार्म नम्बर-6 भरकर क्षेत्र से संबंधित सहायक निर्वाचन अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत कर मतदाता सूची में नाम बढ़वाने की कार्यवाही जारी है। 

आदर्श आचार सहिंता का पालन

कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा के तत्काल पश्चात आदर्श आचार सहिंता प्रभावशील हो जाएगी। उन्होंने बताया कि धार्मिक स्थलों से चुनाव प्रचार संबंधी गतिविधियां वर्जित रहेगीं। शासकीय एवं अशासकीय शालाओं के परिसर में चुनाव सभाएं नहीं होगीं। आदर्ष आचरण संहिता के संबंध में किसी प्रकार की षिकायत होने पर जिला निर्वाचन अधिकारी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी और निर्वाचन क्षेत्र में अनुविभागीय दण्डाधिकारी तथा अनुविभागीय अधिकारी पुलिस में गठित प्रकोष्ठ में षिकायत कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त संबंधित तहसीलदार से षिकायत की जा सकती है। 

संपत्ति विरूपण अधिनियम का पालन

कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया ने बताया कि संपत्ति विरूपण अधिनियम 1994 के आदेशों का पालन सुनिश्चित किया जाए। इस अधिनियम के तहत संपत्ति की स्वामी की लिखित अनुमति के बिना सार्वजनिक दृष्टि से आने वाली किसी सम्पत्ति को स्याही, खडिया, रेग या किसी अन्य पदार्थ से लिखकर या चिन्हित करके उसे विरूपित करने पर  एक हजार रूपए तक के जुर्माने से दण्डनीय हो सकेगा। यदि किसी राजनैतिक दलों या अन्य व्यक्तियों द्वारा शासकीय एवं अशासकीय भवनों पर बैनर लगाए जाते हैं तथा विद्युत टेलीफोन के पोल पर झण्डे लगाए जाते हैं तो उनके विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। 

प्रकाशकों एवं मुद्रकों के लिए निर्देश

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127(क) के अंतर्गत किसी भी प्रकार की सामग्री आदि के प्रकाशन पर प्रकाशन का नाम, मुद्रण का नाम तथा पता मुख्य पृष्ठ पर अंकित होना चाहिए। राजनैतिक दलों द्वारा मंच आदि की स्वयं व्यवस्था करेंगे। मंचों पर आसीन होने वाले लोगों की सूची पूर्व से ही जिला प्रषासन तथा पुलिस को दी जाएगी। 

सभाओं एवं वाहनों की अनुमति

निर्वाचन अवधि में राजनैतिक दलों एवं अधिकारियों को आम सभाओं तथा जुलूसों के संबंध में किसी प्रस्तावित स्थल और समय के बारे में स्थानीय राजस्व, पुलिस अधिकारियों को पूर्व में सूचना देकर अनुमति लेना चाहिए ताकि शांति एवं कानून व्यवस्था बनी रहे। नगरों के व्यस्ततम क्षेत्रों जहां बाजार लगते हो या मुख्य सड़क किनारे आम सभाओं के पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा। साथ ही ध्वनि विस्तारक यंत्रों द्वारा चुनाव प्रचार-प्रसार, आम सभा, जुलूस निकालने से पूर्व संबंधित अधिकारी से अनुमति लेना होगा। 

पेड न्यूज की मॉनीटरिंग 

विधानसभा चुनाव में टीवी चैनल, केबल नेटवर्क एवं संचार के माध्यमों में चलने वाले विज्ञापनों, समाचारों सहित समस्त सामग्री की मॉनीटरिंग की जाएगी। इसके लिए मीडिया मॉनीटरिंग सेल की स्थापना की गई है। चुनाव प्रचार संबंधी विज्ञापनों के प्रसारण के लिए जिला एमसीएमसी समिति से सर्टिफिकेट प्राप्त करना अनिवार्य होगा। जिला स्तरीय एमसीएमसी कमेटी में केवल अभ्यर्थी ही आवेदन करेंगे, राजनैतिक दलों को राज्य स्तरीय एमसीएमसी कमेटी में आवेदन करना होगा।

कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने कहा कि आदर्ष आचार संहिता प्रभावषील होते ही केबल नेटवर्क अधिनियम,प्रेस एवं पुस्तक पंजीकरण अधिनियम, लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 तथा भारत निर्वाचन आयोग के दिषा निर्देषों का पालन सुनिष्चित किया जाएगा। 

"To get the latest news update download tha app"