50 हजार से ज्यादा नगद राशि ले जाने पर साथ रखें ये दस्तावेज, नहीं तो हो सकती है कानूनी कार्रवाई

रायसेन। विधानसभा निर्वाचन-2018 में आदर्श आचार संहिता के तहत किसी भी व्यक्ति द्वारा 50 हजार रूपए तक की नगद राशि को ले जाया जा सकता है।पचास हजार रूपए से अधिक नगद राशि साथ ले जाने पर वैध दस्तावेज भी साथ रखना अनिवार्य है। यह जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता में दी। 

उन्होंने बताया कि 50 हजार रूपए से अधिक नगद राशि साथ ले जाने पर परिवहनकर्ता के पास उस राशि के स्वामित्व,राशि के स्त्रोत तथा गंतव्य स्थान के संबंध में दस्तावेज होना चाहिए।उन्होंने बताया कि आयकर विभाग के प्रावधानों के तहत दो लाख रूपए से अधिक की राशि का नगद लेन-देन नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी बताया कि 10 लाख रूपए से अधिक की नगद राशि जप्त होने पर समीप के थाने में उक्त राशि जमा कर दी जाएगी तथा आयकर विभाग को सूचित किया जाएगा। इसके पश्चात आयकर विभाग द्वारा आगामी कार्यवाही की जाएगी। 

उद्योग,व्यवसाय में 50 हजार रूपए से अधिक मूल्य के माल के परिवहन के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने मध्यप्रदेश वाणिज्य कर विभाग के प्रावधानों की जानकारी देते हुए बताया कि दौरान ई-वे बिल (मसमबजतवदपब ूंलइपसस) और परिवहन संबंधी दस्तावेज साथ रखने होंगे। उन्होंने बताया कि टैक्स फ्री माल पर ई-वे बिल की आवश्यकता नहीं है लेकिन परिवहन संबंधी दस्तावेज होगा आवश्यक है। जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने बताया कि किसानों को मण्डी में विक्रय किए गए माल के भुगतान के रूप में प्राप्त 50 हजार रूपए से अधिक की नगद राशि ले जाने के लिए भुगतान पत्रक साथ रखना आवश्यक है। प्रेस वार्ता में पुलिस अधीक्षक जगत सिंह राजपूत, एसडीएम संजय उपध्याय, उप जिला निर्वाचन अधिकारी एमपी बरार तथा विभिन्न मीडिया संस्थानों के प्रतिनिधि उपस्थित थे। 

जप्त राशि संबंधी शिकायतों के लिए समिति

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने बताया कि सीईओ जिला पंचायत अमनवीर सिंह बैस की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति गठित की गई है। यह समिति आदर्श आचार संहिता के दौरान 50 हजार रूपए से अधिक की नगद राशि जप्त होने पर संबंधित व्यक्ति द्वारा उक्त राशि वापस प्राप्त करने के लिए दिए जाने वाले दस्तावेजों का परीक्षण कर राशि लौटाने की कार्यवाही करेगी। 

50 हजार रूपए से अधिक की इन सामग्री के परिवहन पर लगेगा ई-बे बिल

मध्यप्रदेश वाणिज्य कर विभाग के प्रावधान के तहत 50 हजार रूपए से अधिक के पान मसाला, मिष्ठान,प्लाईबुड तथा लेमिनेट शीट, सभी प्रकार के लोहा तथा स्टील, खाद्य तेल, ऑटो पार्ट्स, सिगरेट तथा तम्बाकू उत्पाद, इलेक्ट्रानिक उपकरण (एचएसएन कोड), मशीन, सभी प्रकार के फर्नीचर (एचएसएन कोड), लुबिकेन्टस, टाईल्स, सिरेमिक गुड्स, सेरमिक ब्लॉक्स तथा सेरमिक पाईप्स आदि के परिवहन पर ई-बेल बिल तथा परिवहन संबंधी दस्तावेज होना आवश्यक है।