आचार संहिता लगते ही खाली करवाए गए इन विधायकों के सरकारी बंगले

राजगढ़

 मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर है। चुनाव आयोग के नियमों का लगातार पालन किया जा रहा है। वही चुनावी युद्ध का ऐलान होते ही प्रशासन हरकत में आ गया है। आदर्श चुनाव आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए काम किए जा रहे है।सड़कों से पोस्टर-होर्डिग्स पहले ही हटाए जा चुके है  और अब विधायकों के सरकारी बंगले खाली करवाए जा रहे है।दरअसल,  जिला प्रशासन ने खिलचीपुर विधायक हजारीलाल दांगी, राजगढ़ विधायक अमरसिंह यादव और ब्यावरा विधायक नारायणसिंह पंवार के बंगले खाली करवा लिए है। इन तीनों बंगलों को रात के अंधेरे में खाली कराकर सामान शिफ्ट किया गया। इसके बाद प्रशासन ने इन बंगलों पर ताला डालकर वहां प्रचार सामग्री को हटाया है।  

आरोप है कि इन्होंने  प्रशासन से सरकारी बंगले आवंटित कराकर इनमें अपने-अपने दफ्तर खोल रखे थे। जहां पिछले पांच साल से विधायकों का स्टाफ बैठकर दफ्तर संचालित कर रहे थे।  प्रशासन द्वारा  6 अक्टूबर को आदर्श आचार संहिता लगने के बाद ही तीनों विधायकों से सरकारी आवास खाली करवा लिए गए थे।  खिलचीपुर में पीडब्ल्यूडी, राजगढ़ में कॉलेज और ब्यावरा में मंडी प्रशासन ने परिसर में ताला डालकर इन्हें अपने अधीन लिया है। इसके साथ ही प्रशासन की कार्रवाई आचार संहिता का उलंघन करने वालों के खिलाफ जारी है।