VIDEO : यहां खुलेआम रुपये लेकर करवाते है नकल, छात्र किताबों से देखकर लिखते है प्रश्नो के उत्तर

राजगढ़/ब्यावरा।मनीष सोनी।

किसी भी स्कूल या कालेज में परीक्षा छात्रो की वर्षभर की मेहनत और योग्यता का आंकलन मानी जाती है लेकिन अगर किसी केंद्र पर परीक्षा का आधार पढ़ाई नही बल्कि बिना किसी रोकटोक के किताबो से देखकर प्रश्नो के उत्तर लिखने की छूट मिल जाये तो क्या कहने। जी हाँ आपको सुनने में आश्चर्य होगा लेकिन यह हकीकत है।  यह सब हो रहा है भोज ओपन यूनिवर्सिटी के सुठालिया परीक्षा केंद्र पर। जहां बाकायदा छात्रो से पैसे लेकर उन्हें खुलेआम नकल करने की छूट प्रदान की जाती है। छात्रो से फार्म भरते समय ही प्रति छात्र एक हजार रूपये अधिक वसूले जाते है। यह रूपये उनसे परीक्षा में नकल कराये जाने के एवज में लिए जाते है। इसके आलावा प्रेक्टिकल के लिए 700 रूपये अलग से वसूले जाते है।

इसका सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। जिसमे BA, BSC की परीक्षा देने वाले छात्र-छात्राएं परीक्षा में किताब में से नकल करते दिख रहे है । बताया जा रहा है परीक्षा दे रहे छात्र छात्राओं से  नकल करवाने के नाम पर  शिक्षकों ने रुपये लिए है।  वीडियो मे साफ दिख रहा है कि परीक्षा दे रहे छात्र से किस तरह ये शिक्षक रुपये ले रहा है । छात्र अपनी जेब से रुपये निकालता है और पास खड़े शिक्षक की कॉपी में रख देता है । वही दूसरे वीडियो में छात्र सुठालिया प्राचार्य को उनके ऑफिस में रुपये देते हुए दिखाई दे रहे है ।बताया जा रहा है कि प्रेक्टिकल के नाम पर भी इस स्कूल में छात्रों से रुपये वसूले गए है । हैरानी की बात तो ये है कि प्राचार्य एन एस सिकरवार इस मामले में छात्र द्वारा दिये गये पैसो को न सिर्फ खुद रखने की बात कह रहे है बल्कि  बीईओ ओर वरिष्ठ अधिकारियो तक पहुंचाने का कहते हुए पैसे कम नही करने का बोल रहे है।

 नकल के लिए होता है ठेका

बता दे कि नकल पर प्रतिबंध लगे इसके लिए  बोर्ड द्वारा अलग अलग नियम बनाये जाते है जिसके तहत न सिर्फ केंद्रो का बदलाब बल्कि माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा तो शिक्षकों को भी एक ब्लाक से दूसरे ब्लाक में ड्यूटी के लिए भेजा जाने लगा है , लेकिन भोज ओपन विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित BA, BSC , की होने वाली परीक्षा में सुठालिया केंद्र ऐसा केंद्र है । जहा परीक्षा में नकल कराने का ठेका होता है, जो कि सब कुछ वीडियो और ऑडियो के वायरल होने से ओर स्पष्ट हो जाता है ।इसके साथ ही वीडियो-ऑडियो में खुद प्राचार्य छात्रो से पैसे लेने की बात स्वीकार कर रहे है कि पैसा ऊपर तक पहुँचाना पड़ता है।इसके अलावा परीक्षा के वीडियो में छात्र खुलेआम किताबो से नकल करते दिख रहे है। उन्हें परीक्षा में ड्यूटी पर मौजूद शिक्षको का कोई भय नही है।



"To get the latest news update download tha app"