Breaking News
केंद्रीय मंत्री की बहन को एसिड अटैक और मारने की धमकी | खाना खाने के बाद बिगड़ी तबियत, दो सगी बहनों की मौत, मां की हालत गंभीर | पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा की जन्मशताब्दी मनाएगी सरकार : शिवराज | अस्पताल के बच्चा वार्ड में लगी आग, मची अफरा-तफरी, 35 बच्चे थे भर्ती | खुशखबरी : मंत्री ने किसानों की मांग की पूरी, मोहनी सागर डेम से हरसी के लिए छुड़वाया पानी | पदोन्नति में आरक्षण : अब 22 अगस्त को होगी अगली सुनवाई, सपाक्स रखेगा अपना पक्ष | MP : आकाशीय बिजली का कहर, मवेशी चराने गए 6 लोगों की मौत, 12 घायल | गंगा की गोद में समाए 'अटल', 'बेटी नमिता ने ऊं' के उच्चारण के साथ हरकी पैड़ी में विसर्जित की अस्थियां | 'मजनू' के सिर से उतारा इश्‍क का भूत, लड़की ने चप्पलों से पीटा, भीड़ ने काटे बाल | महाकाल मंदिर के बाहर खून-खराबा, युवक ने दंपत्ति पर किया चाकू से हमला, मचा हड़कंप |

ई-अटेन्डेंस के विरोध में उतरे सरकारी कर्मचारी, 2 अप्रैल से हड़ताल पर जाने की दी चेतावनी

रतलाम ।

सरकार द्वारा शुरु किए गए ऑनलाइन अटेंडेंस का विरोध फिर से शुरु हो गया है। मप्र शासन द्वारा एम. शिक्षा मित्र एप के द्वारा मोबाईल के माध्यम से ई अटेंडेंस लगाना सुनिश्चित किया गया है। चुंकी नया शिक्षा सत्र 1 अप्रैल से शुरु होने वाला है।अब इस एप के माध्यम से कर्मचारियों को अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होगी। इस एप में ई-अटेंडेंस की तरह बहानेबाजी नहीं चलेगी। शिक्षकों और सरकारी कर्मचारियों  को इस एप पर हाजिरी अनिवार्य लगाना ही पड़ेगी।इस संबंध में सभी को निर्देश दिए गए हैं। जो लापरवाही बरतेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।लेकिन कर्मचारियों ने अब इसका विरोध प्रदर्शन करना शुरु कर दिया है।कर्मचारी विरोध में सड़कों पर उतर आए है। इसी कड़ी में आज रतलाम में कर्मचारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर दोबार उपस्थिति दर्ज कराने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।कर्मचारियों ने सरकार को हड़ताल पर जाने की चेतावनी भी दी है।

 दरअसल रतलाम जिला प्रशासन ने इन दिनों सभी सरकारी कर्मचारियों से अटेंडेंस एप पर, ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज करवाने के आदेश जारी किए हैं। जिसके विरोध में आज बुधवार को कर्मचारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर  प्रदर्शन किया। इसके साथ ही कर्मचारियों ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सरकार उनकी मांग नहीं मानेगी तो वे आगामी 2 अप्रैल से हड़ताल पर चले जाएंगे। 

क्या है एम शिक्षा मित्र

 'M-शिक्षा मित्र एप्लीकेशन' (ई-अटेण्डेंस) व्यवस्था के तहत यदि शिक्षक, अधिकारी, कर्मचारियों ने मोबाइल से हाजिरी नहीं लगाई तो उनकी छुट्टियां और वेतन काट लिया जाएगा। दावा किया जा रहा है कि एप्लीकेशन में इस बार ये खासियत होगी कि जिन शिक्षकों की शिकायत दफ्तरों में धूल खाती रहती हैं, वे शिक्षक यदि M शिक्षा मित्र एप से शिकायत करेंगे तो न सिर्फ उनके शिकायतों की ऑनलाइन मॉनीटरिंग होगी बल्कि निपटारा भी तत्काल होगा।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...