Breaking News
स्वास्थ्य विभाग में मंत्री का आदेश रद्दी की टोकरी में | मोदी सरकार के 4 साल : बैलगाड़ी, ठेला अैर साइकिल पर सवार होकर कांग्रेस ने मनाया 'विश्वासघात दिवस' | मैं सेवा की ऐसी लकीर खींचूंगा, जिसे मेरे मरने के बाद भी मिटाया न जा सकेगा : शिवराज | पुलिसवाले के दोस्त ने युवतियों से की छेड़छाड़, चप्पलों से हुई पिटाई, खाकी पर उठे सवाल | बैतूल में आज एक और किसान ने की आत्महत्या, सड़क पर शव रख ग्रामीणों ने किया चक्काजाम | MP : मोदी सरकार के चार साल, कांग्रेस मना रही 'विश्वासघात' दिवस | विश्वासघात दिवस : कांग्रेस नेता ने गिनाई मोदी सरकार की 5 नाकामियां | VIDEO : कंटेनर से जा भिड़ा पायलेटिंग वाहन, बाल-बाल बचे स्वास्थ्य मंत्री, 3 पुलिसकर्मी घायल | VIDEO : विधायक ने 'हमसफ़र' को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, पहले दिन यात्री दिखें उत्साहित | 6 जून से पहले जिलों में जाकर किसानों को मनाएंगे मुख्यमंत्री  |

शौचालय ना बनवाने वालों के घर प्रशासन ने भेजे किन्नर, नाच गाकर दे रहे समझाइश

रतलाम

प्रदेश में जिले को ओडिएफ घोषित करने की ऐसी होड़ लगी है कि जिला प्रशासन हर दिन नए नए तरीके इजाद कर लोगों को शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित करने में लगा हुआ है। ऐसा ही कुछ नया तरीका मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में प्रशासन द्वारा अपनाया गया है।  खुले में शौच करने वालों और घर में शौचालय ना बनवाने वालों को समझाने के लिए प्रशासन ने अब किन्नरों का सहारा लेना शुरु कर दिया है। प्रशासन ने लोगों के घर किन्नरों को भेजने का काम शुरु कर दिया है और किन्नरों से कहलवाया है कि जब तक शौचालय नहीं बनवाओगे तब तक हम यूंही तुम्हारे घर आते रहेंगें। इसी कड़ी में शुक्रवार को किन्नरों की टोली लोगों के घर पहुंची और शौचालय बनवाने की समझाइश दी।

दरअसल, जिले की आलोट जनपद पंचायत को प्रशासन  28 फरवरी तक ओडीएफ करना चाहता था।लेकिन लोगों के समय पर शौचालय ना बनवाने पर ये काम पूरा ना हो सका।इनमें से कुछ लोगों ने गढ्डे खुदवाए तो कुछ ने तो काम ही शुरु नहीं किया है।ओडीएफ प्रोजेक्ट के तहत सुबह मॉर्निंग फॉलोअप के लिए जनपद अधिकारी की देखा कि लोगों ने समझाइश के बाद भी शौचालय बनाना शुरू नहीं किए हैं। ऐसे में प्रशासन ने नया तरीक ढूढ़ा है। जनपद सीईओ गोवर्धनलाल मालवीय ने आसपास के गांवों से किन्नरों को बुलाया और उनसे लोगों को शौचालय बनाने के लिए प्रेरित करने की बात कही। प्रशासन के कहने पर किन्नर घर-घर जा रहे है और नाच गा कर लोगों से कह रहे है कि शौचालय बनवाओं । हमसे छुटकारा पाना है तो शौचालय बनवा लों। जब तक शौचालय नही बनवाओगे तब तक हम यूं ही आते रहेंगें।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...