लोकायुक्त का शिकंजा, 15 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप हुआ एसआई

सागर।

मध्यप्रदेश के सागर जिले में लोकायुक्त की टीम ने एक पुलिसकर्मी को 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।संदीप दिवाकर गोपालगंज थाने में सब इंस्पेक्टर के पद पर पदस्थ है। आरोप है कि वह कौटिल्य कोचिंग अकादमी के फ्रैन्चाइजी द्वारा अमानत में ख्यानत के एक मामले में 35 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा था। कौटिल्य कोचिंग अकादमी के फ्रैन्चाइजी के संचालक ने इसकी शिकायत सागर लोकायुक्त से की थी।बता दे कि इस अकादमी की फ्रैंचाइजी पार्टनर पुष्पा का पति कुबेरसिंह तोमर बतौर एएसआई सागर में पदस्थ है। कार्रवाई में लोकायुक्त के सिपाही शानू तिवारी, सुरेंद्र प्रताप सिंह, अरविंद नायक, संजीव अग्निहोत्री शामिल थे।

दरअसल, शिकायतकर्ता रामेश्वर नागर ने सागर लोकायुक्त से शिकायत की थी कि बीते दिनों उन्होंने इंदौर स्थित कौटिल्य अकादमी से पुष्पा तोमर की पार्टनरशिप में सागर में फ्रैंचाइजी ली थी। इस बीच अकादमी नहीं चली तो पार्टनर्स के बीच में विवाद हाे गया। इसके बाद में पार्टनर तोमर व गुलाबसिंह के बीच समझौता हुआ लेकिन पुष्पा ने आरोप लगाया कि फ्रैंचाइजी को अदा की जाने वाली रकम में से गुलाबसिंह ने पैसे जमा नहीं किए हैं, उन्होंने मेरे फर्जी दस्तखत कर लिए। इस पर से गोपालगंज पुलिस ने पुष्पा तोमर की शिकायत पर कोचिंग से जुड़े स्टाफ पर अमानत में ख्यानत का मामला दर्ज कर लिया। इसी मामले से नाम हटाने की एवज में एसआई दिवाकर ने  कोचिंग संचालक नागर से रिश्वत के रूप में 35 हजार रुपए की मांग की थी। इसमें से नागर दिवाकर को पहली किश्त के रुप में 10 हजार रुपए पहले ही दे चुका था, लेकिन दिवाकर उस पर दूसरी किस्त के रूप में 15 हजार रु. देने के लिए दबाव बना रहा था । इसकी शिकायत नागर ने लोकायुक्त पुलिस से की।  पुलिस ने आरोपी सब इंस्पेक्टर को 15 हजार रुपए की रिश्वत लेत रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

"To get the latest news update download tha app"