राज्य वन सेवा अफसर की सड़क दुर्घटना में मौत, टाइगर प्रोजेक्ट में निभाई थी महत्वपूर्ण भूमिका

सागर। 

आज गुरुवार सुबह मध्यप्रदेश के सागर में  पदस्थ 2010 बैच के राज्य वन्य सेवा अफसर प्रताप सिंह की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। 35 वर्षीय प्रताप सिंह सागर के नौरादेही अभयारण्य में बतौर एसीएफ पदस्थ थे।बता दे कि अभयारण्य में टाइगर प्रोजेक्ट के लिए राधा-किशन नामक बाघ, बाघिन को लाने में प्रताप  सिंह ने महती भूमिका निभाई थी।

बताया जा रहा है कि एसीएफ प्रताप सिंह सरकारी वाहन से तड़के करीब 3 बजे सागर से रहली जा रहे थे, तभी रहली से करीब 11 किलोमीटर दूर पांच मील क्षेत्र के पास ड्राइवर को अचानक नींद का झोंका आया गया और गाड़ी अनियंत्रित होकर सीधे सड़क किनारे एक पेड़ से जा टकराई । गाड़ी के पेड़ से टकरान पर  SDO गाड़ी से बाहर गिर गए और उनका सिर एक पत्थर से जा टकराया, जिसके कारण उनकी मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि टक्कर इतनी भीषण थी कि घटना में गाड़ी के परखच्चे उड़ गए। सूचना मिलने के तुरंत बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया। वही ड्राइवर को सिर में चोट आई है। उसे सागर रेफर किया गया है। जहां हालत स्थिर बताई जा रही है। सूचना मिलने के तुरंत बाद सतना से एसडीओ के परिजन भी पहुंचे हैं।


"To get the latest news update download tha app"